स्व.मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथि बनाई गई | Jokhim Samachar Network

Monday, July 22, 2024

Select your Top Menu from wp menus

स्व.मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्यतिथि बनाई गई

देहरादून/ हल्द्वानी। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय आहवान पर
समाजवादी पार्टी के संस्थापक देश के पूर्व रक्षा मंत्री,व ३ बार के उत्तर प्रदेश के मुख्य मंत्री निवर्तमान में लोकसभा सांसद रहे मुलायम सिंह यादव की प्रथम पुण्य तिथि पर उत्तराखण्ड समाजवादी पार्टी के प्रदेश कार्यालय परेड ग्राउण्ड देहरादून पर एक श्रद्धांजली सभा का आयोजन किया गया । जहाँ प्रातः से ही मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजली देने वालों का ताँता लगा रहा ।सर्वप्रथम उत्तराखण्ड समाजवादी पार्टी के प्रदेश प्रभारी हाजी अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी ,सपा.महिला सभा की राष्ट्रीय महासचिव आभा बर्थवाल सपा. उत्तराखण्ड महासचिव अतुल शर्मा नेअपने तमाम साथियों के साथ मुलायम सिंह यादव के चित्र पर माल्यार्पण एव पुष्प अर्पित कर श्रंधाजलि अर्पित की। तद्उपरान्त एक शोक सभा का आयोजन किया गया शोक सभा को सम्बोधित करते हुए सपा. उत्तराखण्ड प्रभारी अब्दुल मतीन सिद्दीक़ी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव जैसा नेता सदियों में एक आद ही पैदा होता है।नेता जी से लेकर उन्हें जितनी भी उपाधि मिली हैं । सब उनके कार्यों के कारण ही मिली है चाहे उसमें धरती पुत्र मुलायम सिंह यादव हो ।चाहे जिसका जलवा क़ायम हे उसका नाम मुलायम है । श्री यदव् सुभाष चन्द बॉस के बाद किसीको नेताजी की उपाधि मिली तो वह थे ।मुलायम सिंह यादव इसी के साथ ही श्री सिद्दीक़ी ने कहा मुलायम सिंह यादव उत्तराखण्ड के सबसे बड़े हितेषी थे । उन्होंने यहाँ की भौगोलिक व आर्थिक परस्तिथि को देखते हुए उत्तराखण्ड अलग राज्य बनाने का सपना देखा था ।जिसके लिये उन्होंने कोशिक क्मेटी व बर्थवाल कमेटी का गठन करके उत्तराखण्ड राज्य बनाने की शुरुआत करने के साथ साथ दो बार उत्तर प्रदेश के दोनो सदनों विधानसभा व विधान परिषद से उत्तराखण्ड का बिल पास कराके केंद्र सरकार को भेजा।लेकिन जिस उत्तराखण्ड का सपना मुलायम सिंह यादव एवं यहाँ की जनता ने देखा था ।आज उत्तराखण्ड की तस्वीर बिल्कुल उसके विपरीत है। बेरोज़गारी, पलायन,भ्रष्टाचार,अपराध सभी चरम सीमा पर है।साथ ही श्री सिद्दीक़ी ने कहा कि मुलायम सिंह यादव किसानों ग़रीबों व्यापारियों छात्रों कर्मचारियों सहित सभी वर्गों के सच्चे हितेषी थे ।और उन्होंने सभी वर्गों के लिये भरपूर कार्य किये ।विशेष रूप से अपने रक्षा मंत्री के कार्यकाल में सेना का मनोबल बड़ाने के साथ-साथ हमारे शहीद जवानों का शव ससम्मान उनके घर पहुँचाने के साथ-साथ पूरे राजकीय सम्मान के साथ उनका अन्तिम संस्कार कराने का जो कार्य किया है ।वह अपने आप में एक एतिहासिक फ़ैसला है ।इससे पूर्व शहीद की बेल्ट और टोपी उनके घर आती थी।अंत में श्री सिद्दीक़ी ने कहा कि नेता जी के अधूरे सपनों को पूरा करना ही उनको सच्ची श्रंधाजली होगी ।वहीं महिला सभा की राष्ट्रीय महासचिव आभा बर्थवाल ने मुलायम सिंह यादव को श्रद्धांजलि अर्पित करते हए कहा कि नेता जी जैसा नेता सदियों में एक आद ही पैदा होता है। उन्होंने कहा नेता जी स्व. विनोद बर्थवाल जी को बहुत मानते थे। और उत्तराखण्ड के अधिकांश फ़ैसले उन्हीं के राय मशवरे से ही करते थे। उन्होंने कहा नेता जी की कथनी और करनी में कोई अन्तर नहीं था। वह जो कहते थे। वही करते थे। सपा. प्रदेश महासचिव अतुल शर्मा ने भी नेता जी को श्रद्धांजलि अर्पित करते हुए कहा कि उत्तराखण्ड के पर्वर्तीय इलाकों में जितना विकास माननीय नेता जी के सरकार के समय में हुआ है।अभी तक की कोई भी सरकार इतना काम नहीं करा पाई है।शोक सभा के अंत में दो मिंट का मोन रख कर दिव्गांत आत्मा की शान्ति के लिये प्रार्थना की गई ।शोकसभा को सम्बोधित करने व श्रद्धाजली अर्पित करने वालों में मुख्य रूप से हेमा बोरा, अतुल यादव,अश्वनी मुदग़ल,रघुवीर मेहता,ज्योत्सना रावत, गुड्डी चौधरी,सन्दीप नेगी, युद्धवीर सिंह,जमील मिकरानी, शकील अन्सारी, रेहान मलिक,एच.पी.यादव अनस सिद्दीक़ी, सहित सैकड़ो कार्यकर्ता मोजूद थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *