जौनसारी समुदाय ने हमें सिखाया है कि हमें अपनी संस्कृति और विरासत पर गर्व करना चाहिए | Jokhim Samachar Network

Sunday, April 21, 2024

Select your Top Menu from wp menus

जौनसारी समुदाय ने हमें सिखाया है कि हमें अपनी संस्कृति और विरासत पर गर्व करना चाहिए

 

देहरादून  राज्यपाल लेफ्टिनेंट जनरल गुरमीत सिंह  ने शुक्रवार को राजभवन में भारतीय तट रक्षक के पूर्व अतिरिक्त महानिदेशक डॉ. कृपा नौटियाल द्वारा लिखित पुस्तक ’बियॉन्ड पॉलीएंड्री- चेंजिंग प्रोफाइल ऑफ एन एथनिक हिमालयन ट्राइब’ का विमोचन किया गया। लेखक द्वारा इस पुस्तक में जौनसारी जनजाति समुदाय की संस्कृति और सभ्यता, रीति-रिवाजों, जाति व्यवस्था, विवाह और त्योहारों की विशिष्टता, अर्थव्यवस्था, भाषाई स्थिति, और सामाजिक-सांस्कृतिक परिवर्तनों की उत्पत्ति के बारे में जानकारी प्रदान की गई है। इस कार्यक्रम में देहरादून के नागरिकों के अलावा ’जौनसार बावर’ क्षेत्र से भी बड़ी संख्या में लोग शामिल हुए। पुस्तक के विमोचन के बाद, विशेषज्ञों द्वारा एक पैनल चर्चा की गई जिसमें ’विधायक मुन्ना सिंह चौहान, उत्तराखंड के पूर्व मुख्य सचिव नृप सिंह नपलच्याल, दून विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र विभाग के प्रमुख प्रो. राजेंद्र प्रसाद मंमगाई शामिल थे।
अपने संबोधन में राज्यपाल ने कहा कि जौनसारी समुदाय ने हमें सिखाया है कि किस प्रकार हमें अपनी संस्कृति और सभ्यता का संरक्षण कर अपनी जड़ों से जुड़ा रहना चाहिए। यह समुदाय हमें इस बात को सिखाता है हमें अपनी संस्कृति और विरासत पर गर्व करना चाहिए।
राज्यपाल ने कहा कि सांस्कृतिक पहचान किसी भी देश या क्षेत्र के लिए एक बहुत ही महत्वपूर्ण आवश्यकता है। हमें अपनी पहचान जिंदा रखने के लिए अपनी जड़ों से जुड़ाव रखना चाहिए। आज हमें अपने रीति-रिवाज, परम्पराएं संजोकर रखने की आवश्यकता है जिसमें जौनसारी समुदाय का अनुसरण करने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जौनसार-बावर की अपनी विशेष मान्यताओं और परम्पराओं के कारण एक विशेष सांस्कृतिक पहचान है। प्राकृतिक संपदा एवं नैसर्गिक सौन्दर्य से समृद्ध यह क्षेत्र सांस्कृतिक और आन्तरिक सन्तुष्टता से परिपूर्ण है।
राज्यपाल ने कहा कि हम अमृतकाल की पीढ़ी को अपने सांस्कृतिक धरोहर और मूल जड़ों से जुड़ने और उन्हें अपनी विरासत पर गर्व करने के लिए प्रेरित करें। राज्यपाल ने लेखक को जनजाति समुदाय द्वारा देखे जा रहे विभिन्न सामाजिक सांस्कृतिक परिवर्तनों पर एक अच्छी तरह से शोध की गई पुस्तक लाकर जौनसार बावर समुदाय के लिए किए गए उत्कृष्ट कार्य के लिए बधाई दी। इस समग्र अध्ययन को लेखक की ओर से समुदाय के लिए एक आदर्श उपहार माना।
इससे पहले, इस पुस्तक को लिखने में अपने अनुभवों को साझा करते हुए, लेखक डॉ. कृपा नौटियाल ने इस बात पर जोर दिया कि सेवानिवृत्ति के बाद लेखक द्वारा किए गए श्रमसाध्य शोध पर आधारित यह पुस्तक जौनसार बावर क्षेत्र के लिए उनकी ओर से एक सप्रेम भेंट है। इस पुस्तक के माध्यम से उन्होंने वहीं के मूल निवासी शोधकर्ता के रूप में पहली बार बहुपति प्रथा से परे के क्षेत्र को कवर करने और इस खूबसूरत और बदलती जौनसार बावर संस्कृति की सबसे गहरी परत तक पहुंचने का प्रयास किया है। कार्यक्रम में विधायक मुन्ना सिंह चौहान, पूर्व मुख्य सचिव नृप सिंह नपल्चयाल और दून विश्वविद्यालय के अर्थशास्त्र विभाग के प्रमुख प्रो.राजेंद्र प्रसाद मंमगाई ने अपने विचार रखे। इस अवसर पर  मधु चौहान अध्यक्ष जिला पंचायत, पद्मश्री प्रेम शर्मा, वरिष्ठ राज्य और केंद्र सरकार के गणमान्य व्यक्तियों के अलावा जौनसार बावर क्षेत्र के कई लोग मौजूद थे।

 

देहरादून  संयुक्त ट्रेड यूनियन समन्वय समिति की देशव्यापी हड़ताल के समर्थन में कांग्रेस समेत इंडिया गठबंधन के सहयोगी दलों ने मसूरी में धरना-प्रदर्शन किया। साथ ही एसडीएम के माध्यम से राष्ट्रपति और राज्यपाल को ज्ञापन प्रेषित किया। शहीद भगत सिंह चौक पर शहर कांग्रेस कमेटी, भाकपा, आम आदमी पार्टी और ट्रेड यूनियन के कार्यकर्ताओं ने नारेबाजी की और धरना दिया। उन्होंने किसानों की मांगों को पूरा करने के साथ ही श्रम संहिता को रद्द करने की मांग उठाई। शहर कांग्रेस अध्यक्ष अमित गुप्ता ने कहा कि देशव्यापी हड़ताल को कांग्रेस पार्टी का समर्थन है। मसूरी ट्रेड यूनियन समन्वय समिति के अध्यक्ष आरपी बडोनी ने कहा कि किसानों द्वारा पूर्व में भी आंदोलन किया गया है और एक बार फिर उग्र आंदोलन किया जा रहा है लेकिन केंद्र सरकार इसकी अनदेखी कर रही है जिसका खामियाजा उन्हें आने वाले लोकसभा चुनाव में भुगतना होगा। पूर्व विधायक मसूरी व उत्तराखंड क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष जोत सिंह गुनसोला ने कहा कि किसानों के साथ केद्र सरकार जो छलावा कर रही है उसके विरोध में प्रदर्शन किया जा रहा है। किसान चाहता है कि सभी फसलों पर एमएसपी लागू हो व सरकार उनकी फसलें खरीदे। लेकिन तानाशाह सरकार किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं कर रही है। इस मौके पर पूर्व पालिकाध्यक्ष मनमोहन सिंह मल्ल, एआईटीयूसी के अध्यक्ष आरपी बडोनी, गाइड यूनियन के अध्यक्ष विजय सिंह कठैत, बलबीर सिंह, स्कूल कर्मचारी संघ के अध्यक्ष पदम महापात्रा, शहर कांग्रेस अध्यक्ष अमित गुप्ता, भवन निर्माण संघ के अध्यक्ष राकेश ठाकुर, सीपीआई के मंत्री देवी गोदियाल, आम आदमी पार्टी के प्रवक्ता जय प्रकाश राणा, सोबन सिंह पंवार, पूरण सिंह नेगी, विरेंद्र डुगरियाल, मजदूर संघ अध्यक्ष रणजीत चौहान, मेघ सिंह कंडारी, चांद खान, महेश चंद, वसीम खान, रमेश राव, नफीस अहमद मौजूद रहे।

देहरादून  दून अस्पताल में 61 साल की महिला का चार घंटे तक जटिल ऑपरेशन किया गया। महिला की गर्दन में ट्यूमर था। डॉक्टरों की टीम ने इस जटिल ऑपरेशन में ट्यूमर को पूरी तरह निकालने में सफलता हासिल की है। ईएनटी विभाग के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ. विकास सिकरवार ने बताया कि पिछले दिनों एक महिला खाना गटकने में दिक्कत और गले में दर्द की शिकायत लेकर आई थी। उसकी एमआईआर और अन्य जांच की गई तो पता चला कि महिला की गर्दन में बड़ा ट्यूमर है। जो मुख्य तंत्रिका और रक्तवाहिकाओं से चिपका हुआ था। डॉक्टरों ने ऑपरेशन करने का फैसला लिया, जो काफी जटिल था। रक्त वाहिकाएं और तंत्रिकाओं के ट्यूमर से चिपके होने की वजह से यह जानलेवा भी हो सकता था। ऐसे में डॉक्टरों की टीम ने ऑपरेशन के दौरान दूरबीन का भी इस्तेमाल किया। ऑपरेशन में करीब चार घंटे निकले और ट्यूमर को सफलतापूर्वक निकाल लिया गया। आपरेशन करने वाली टीम में डॉ. विकास सिकरवार के साथ डॉ. प्रियंका, डॉ. मोनिका, डॉ. अनुराग, एनेस्थीसिया विभाग की डॉ. शोभा, डॉ. दीपिका, नैना और लक्ष्मी मौजूद रहे। प्राचार्य डॉ. आशुतोष सयाना, एमएस डॉ. अनुराग अग्रवाल, डिप्टी एमएस डॉ. धनंजय डोभाल, एचओडी डॉ. भावना पंत ने सफल ऑपरेशन के लिए टीम को बधाई दी है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *