जमरानी बांध से दूर होगी पेयजल और सिंचाई की समस्याःअजय भट्ट, | Jokhim Samachar Network

Sunday, April 21, 2024

Select your Top Menu from wp menus

जमरानी बांध से दूर होगी पेयजल और सिंचाई की समस्याःअजय भट्ट,

हल्द्वानी। जमरानी बांध का निर्माण होने से शहर की आबादी को जहां समुचित पेयजल मुहैया होने लगेगा बल्कि हजारों हैक्टयर कृषि भूमि को सिंचाई के लिए पानी की आपूर्ति की जाएगी। बांध का निर्माण 2051 की आबादी को ध्यान में रख किया जा रहा है। जमरानी क्षेत्र में मोटर मार्ग के उच्चीकरण के साथ ही अन्य कार्यों के लिए निविदा प्रकाशित की जा चुकी है। जबकि 27 फरवरी को मुख्य बांध निर्माण की निविदा भी निकाली जा चुकी है। यह जानकारी केंद्रीय पर्यटन एवं रक्षा राज्यमंत्री अजय भट्ट ने पत्रकार वार्ता में दी। सांसद अजय भट्ट ने कहा कि बहुप्रतीक्षित जमरानी बांध निर्माण के अवशेष कार्यों के लिए केंद्र सरकार द्वारा 3678.23 करोड़ रूपए की स्वीकृति प्रदान कर दी है। इसके अलावा केंद्र सरकार द्वारा परियोजना के लिए अक्टूबर महीने में पीएमकेएसवाई- एआईबीपी योजना के अन्तर्गत केन्द्रीय सहायता के तौर 1557.18 करोड़ की स्वीकृति प्रदान की। शेष धनराशि एमओयू के अनुरूप उत्तर प्रदेश राज्य द्वारा 689 करोड़ और 1432 करोड़ का वहन उत्तराखण्ड सरकार द्वारा आगामी पांच वर्षों में किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इसी महीने में नेशनल बोर्ड ऑफ वालल्ड लाइफ, पर्यावरण, वन एवं जलवायु परिवर्तन मंत्रालय की स्टैंडिंग कमेटी ने बांध निर्माण के लिए एनओसी जारी कर दी है। केंद्रीय रक्षा राज्यमंत्री ने बताया कि अमृतपुर-जमरानी मोटर मार्ग के उच्चीकरण और अन्य कार्यो के लिए 45 करोड की निविदा प्रकाशित की जा चुकी है जबकि 27 फरवरी को मुख्य बांध के निर्माण कार्य जिसकी लागत 2388 करोड़ है, की निविदा भी आमंत्रित कर दी गयी है।
उन्होंने बताया कि प्रस्तावित परियोजना से हल्द्वानी शहर की लगभग 4.80 लाख की आबादी के साथ ही वर्ष 2051 हेतु आंकलित जनसंख्या 10.51 लाख लोगों को वार्षिक 42.70 एमसीएम पेयजल उपलब्ध कराया जाना है। बांध निर्माण के बाद यूपी और उत्तराखंड के 4 जिलों की 57065 हैक्टेयर क्षेत्रफल के लिए सिंचाई के पानी मुहैया कराया जाएगा। सांसद अजय भट्ट ने कहा कि हल्द्वानी-नैनीताल रोपवे में निर्माण कार्य जल्द शुरू किया जाएगा। इसके अलावा स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी फोकस किया जा रहा है। 9 करोड़ की लागत से हल्द्वानी में कैथ लैब की स्थापना की जाएगी। उन्होंने बताया कि आचार संहित लगने से पूर्व काठगोदाम-अमृतसर रेव सेवा शुरू कर दी जाएगी। इसके अलावा 24 करोड़ की लागत से काठगोदाम रेलवे स्टेशन का आधुनिकीकरण किया जाएगा। पत्रकार वार्ता में जिलाध्यक्ष प्रताप बिष्ट, चन्दन बिष्ट भी मौजूद रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *