यूकेडी की सदस्यता ग्रहण की, दल की प्रबंध समिति का हुआ गठन | Jokhim Samachar Network

Friday, March 05, 2021

Select your Top Menu from wp menus

यूकेडी की सदस्यता ग्रहण की, दल की प्रबंध समिति का हुआ गठन

-केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने दल में शामिल होने पर किया स्वागत

देहरादून । उत्तराखंड क्रांति दल के केंद्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में कई लोगों ने यूकेडी की रीति-नीति से प्रभावित होकर दल के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट की उपस्थिति में दल की सदस्यता ग्रहण की। केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने उत्तराखंड क्रांति दल की सदस्यता ग्रहण करने पर इन लोगों का फूलमालाओं से स्वागत किया। इस मौके पर श्री भट्ट ने कहा कि भाजपा व कांग्रेस की जनविरोधी नीतियों के चलते लोग तंग आ चुके हैं और वे इन दोनों दलों से मुक्ति चाहते हैं। उन्होंने कहा कि अब लोगों की नजर उत्तराखंड क्रांति दल पर है, प्रदेश की जनता यूकेडी को राज्य की सत्ता सौंपने का मन बना रही है। यूकेडी की नीति से प्रभावित होकर लोग बड़ी संख्या में दल में शामिल हो रहे हैं।
गुरुवार को दल के केंद्रीय कार्यालय में आयोजित कार्यक्रम में उद्योगपति सुरेंद्र कुमार, एनआरआई हेमंत सिंह, सचिन सिंह, रजनीश सिंह और अनुराग गुप्ता ने यूकेडी की सदस्यता ग्रहण की। दल के केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने इन लोगों का दल में शामिल होने पर स्वागत किया। इस मौके पर केंद्रीय अध्यक्ष दिवाकर भट्ट ने दल की प्रबंध समिति के गठन का भी ऐलान किया। प्रबंध समिति में उद्योगपति सुरेंद्र कुमार, एनआरआई हेमंत सिंह, सचिन सिंह, रजनीश सिंह और अनुराग गुप्ता को शामिल किया गया है। इस मौके पर उद्योगपति सुरेंद्र कुमार ने कहा कि उनके पिता और परिवार के सदस्य बहुत पहले से दिवाकर भट्ट और उत्तराखंड क्रांति दल से जुड़े रहे हैं। अब उन्हें भी यह महसूस हुआ कि उत्तराखंड क्रांति दल ही उत्तराखंड के अस्तित्व की लड़ाई लड़ सकता है। क्षेत्रीय ताकतों को मजबूत करने के लिए वह उत्तराखंड क्रांति दल से जुड़े हैं। प्रबंध समिति के सदस्यों ने संकल्प लिया कि वे तन मन धन से उत्तराखंड क्रांति दल की उन्नति के लिए कार्य करेंगे और उत्तराखंड क्रांति दल को 2022 सत्ता में लाएंगे। इस मौके पर दल के कार्यकारी अध्यक्ष आनंद प्रकाश जुयाल, संरक्षक बीडी रतूड़ी, जयप्रकाश उपाध्याय, लताफत हुसैन, विजय कुमार बौड़ाई समेत उत्तराखंड क्रांति दल के दर्जनों पदाधिकारी और कार्यकर्ता मौजूद रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *