भारतीय सेना के 16वीं गढ़वाल राइफल के पूर्व सैनिकों एवं जेसीओ ने शुक्रवार को अपने रेजींमेंट का 44वां स्थापना दिवस मेहलचौंरी नामक स्थान पर बड़े धूमधाम से मनाया। | Jokhim Samachar Network

Friday, April 19, 2024

Select your Top Menu from wp menus

भारतीय सेना के 16वीं गढ़वाल राइफल के पूर्व सैनिकों एवं जेसीओ ने शुक्रवार को अपने रेजींमेंट का 44वां स्थापना दिवस मेहलचौंरी नामक स्थान पर बड़े धूमधाम से मनाया।

चमोली   भारतीय सेना के 16वीं गढ़वाल राइफल के पूर्व सैनिकों एवं जेसीओ ने शुक्रवार को अपने रेजींमेंट का 44वां स्थापना दिवस मेहलचौंरी नामक स्थान पर बड़े धूमधाम से मनाया। मौके पर मुख्य अतिथि सूबेदार हरि सिंह नेगी के रेजीमेंट के इतिहास के बारे में बताते हुए कहा कि आज ही के दिन 16 गढ़वाल रेमीमेंट की स्थापना की गई थी। उन्होंने सेना के शहीदों को नमन कर रेजीमेंट के मोमेंटो पर पुष्प अर्पित किया। कहा कि गैरसैंण विस में 16 गढ़वाल राइफल के पूर्व जवानों एवं जेसीओ ने जो यह परंपरा प्रारंभ की है वह सराहनीय है। इस अवसर पर पूर्व सैनिकों प्रकोष्ठ के जिला प्रतिनिधि डीएस नेगी, ब्लॉक सैनिक प्रकोष्ठ के अध्यक्ष राजेन्द्र सिंह नेगी, दान सिंह नेगी, कुंवर सिंह, मोहन सिंह, प्रेम सिंह, बागेन्द्र लाल, सुरेन्द्र सिंह, गंगा सिंह, खीम सिंह, बलवंत सिंह आदि कई पूर्व सैनिक, विरांगनाएं, प्रधान मेहलचौंरी बलवीर मेहरा, वन पंचायत सरपंच भरत नेगी, पूव्र व्यापार संघ अध्यक्ष मंगल रावत आदि मौजूद रहे।

आगामी लोकसभा चुनाव में दिव्यांग और बुजुर्ग मतदाताओं को मतदान कराने के लिए पर्वतीय जिले चमोली में विशेष व्यवस्था की गई है। मतदान के दिन दिव्यांग मतदाताओं को मतदान बूथ तक पहुंचाने के लिए पालकी, डोली सहित सभी व्यवस्था होगी। दिव्यांग मतदाताओं को पोलिंग बूथ तक पहुंचाने और मतदान के बाद उन्हें घर तक पहुंचाने के लिए वालिंटियर भी साथ में रहेंगे। जिला निर्वाचन अधिकारी हिमांशु खुराना ने शुक्रवार को लोकसभा चुनाव तैयारियों को लेकर बैठक ली। उन्होंने निर्देशित किया कि घर-घर जाकर दिव्यांग मतदाताओं का सर्वेक्षण करते हुए सक्षम एप पर उनका पंजीकरण कार्य शीघ्र पूरा किया जाए। दिव्यांग एवं बुजुर्ग मतदाताओं को बूथ तक आने जाने के लिए वोलिएंटर की तैनाती सहित डोली, पालकी आदि जरूरी व्यवस्थाओं के लिए पूरा प्लान तैयार किया जाए। निर्वाचन ड्यूटी पर तैनात ऐसे अधिकारी-कर्मचारी जो उस स्थान पर मतदान नहीं कर सकते, जहां की मतदाता सूची में उनके नाम दर्ज हैं। उन्हें डाक मतपत्र अथवा चुनाव ड्यूटी प्रमाण-पत्र-ईडीसी के माध्यम से मतदान की सुविधा दी जाएगी। इस दौरान सी-विजिल एप पर प्राप्त शिकायतों के त्वरित निस्तारण, जीपीएस ट्रैकिंग, मतदेय स्थलों पर मूलभूत सुविधाओं को बहाल करने और अवैध शराब की बिक्री रोकने के लिए सघन छापेमारी अभियान चलाने के निर्देश संबधित नोडल अधिकारियों को दिए गए।
बैठक में पुलिस अधीक्षक रेखा यादव, अपर जिला निर्वाचन अधिकारी अभिनव शाह, उप जिला निर्वाचन अधिकारी विवेक प्रकाश समेत एआरओ एवं संबधित निर्वाचन व्यवस्थाओं से जुड़े नोडल अधिकारी शामिल रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *