Jokhim Samachar Network

Saturday, June 25, 2022

Select your Top Menu from wp menus

टीसीडी को घाटे से उबारने को बनाएं प्रभावी कार्ययोजना: जोशी
रुद्रपुर। कृषि मंत्री गणेश जोशी ने तराई बीज विकास निगम को घाटे से उबारने के लिये पहल की जरूरत जतायी। निगम की आय में बढ़ोतरी के लिये उन्होंने विभिन्न राज्यों में निगम के डीलर बनाने के निर्देश दिये। सोमवार को मंत्री जोशी ने मण्डी निदेशालय सभागार में उत्तराखण्ड सीड्स एवं तराई विकास निगम की योजनाओं और कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने गेहूं और अन्य बीजों के साथ सीड प्रोडेक्शन यूनिट की जानकारी ली। निगम अधिकारियों ने बताया कि मदकोटा की सीड प्रोडेक्शन यूनिट बंद हो गयी है और खटीमा की भी बंद होने जा रही है। इस पर मंत्री ने कहा कि बीज के उत्पादन के साथ इसके विपणन की पुख्ता व्यवस्था करें। उन्होंने मार्केटिंग स्टाफ के बारे में जानकारी ली और कहा कि इतने कर्मचारी होते हुये भी आखिर क्यों टीडीसी घाटे में है। कहा कि किसान निजी कंपनियों के बीज खरीदे रहे हैं तो टीडीसी के क्यों नहीं। उन्होंने बीजों के विपणन व्यवस्था को गंभीरता से लेते हुए बिक्री सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि टीडीसी द्वारा अदरक बीज उत्पादन पर भी विशेष ध्यान दिया जाये। उन्होंने कहा कि विभिन्न प्रजातियों के गुणवत्तायुक्त सीड्स तैयार करने के लिए उत्पादन क्षमता वाले क्षेत्रों को चिह्नित किया जाये और सीड्स उत्पादन के लिए सर्वे भी किये जाये।
मंत्री ने पिछले वर्ष उत्पादित 47 हजार कुंतल बीज के विपणन और इसके रखरखाव को लेकर भी जवाब मांगा। उन्होंने प्रबंध निदेशक को टीडीसी की सभी व्यवस्थाओं को शीघ्र दुरुस्त करने के निर्देश दिए। उन्होंने संचालित संयत्रों, पदों की स्थिति, वर्ष में संचालित की जाने वाली गतिविधियों के बारे में विस्तार से जानकारी लेते हुए महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये। वहीं टीडीसी के अधिकारियों ने बताया कि बिहार और झारखंड में मार्कटिंग के लिए स्थानीय स्तर पर ही प्रयास करे जाएंगे। ताकि नए डीलर्स बन सकें। वहीं कृषि मंत्री ने उत्तराखण्ड मंडी परिषद की समीक्षा के दौरान निर्देश दिए कि अन्तिम छोर पर बैठे कृषकों तक मण्डी परिषद की योजनाओं का लाभ मिले। उन्होंने कहा कि अन्नदाता किसान अर्थव्यवस्था की रीढ़ है, किसानों की समस्याओं के निराकरण में किसी भी प्रकार की ढिलाई न बरती जाए। इसके साथ ही उन्होंने मण्डी परिषद के अधिकारियों को विभिन्न महत्वपूर्ण दिशा-निर्देश दिये।
बैठक में पूर्व विधायक राजेश शुक्ला, कृषि सचिव शैलेश बगौली, उप निदेशक मण्डी निर्मला बिष्ट के अलावा प्रबंध निदेशक जीवन सिंह नगन्याल, महाप्रबंधक पीके सिंह, लच्छीराम आर्य, दीपक पांडे, सीके सिंह, बीके पांडे, नकुल जोशी पीके सिंह, श्रीकांत शर्मा सहित सम्बन्धित अधिकारी उपस्थित थे।
‘जैविक उत्पादों से किसानों की आय बढ़ाने पर शोध करें
शांतिपुरी। कृषि मंत्री गणेश जोशी की अध्यक्षता में जीबी पंत विवि के डीन, डायरेक्टर एवं विभिन्न प्रशासनिक अधिकारियों की विश्वविद्यालय के कार्यों एवं समस्याओं को लेकर समीक्षा बैठक हुई। समीक्षा बैठक से पूर्व कृषि मंत्री ने पंडित गोविंद बल्लभ पंत की मूर्ति पर माल्यार्पण किया और गांधी मैदान पंतनगर में निर्माणाधीन देवकीनंदन अग्रवाल स्टूडेंट सेंटर का शिलान्यास किया। मंत्री जोशी ने विवि के वैज्ञानिकों से कृषि शोध, जैविक खेती को बढ़ावा देने तथा कृषि के माध्यम से किसानों की आय बढ़ाने के लिये काम करने की बात कही। इस दौरान विभिन्न महाविद्यालयों के अधिष्ठाताओं ने द्वारा अपने-अपने महाविद्यालय की समस्याओं और महाविद्यालय के अंतर्गत किए गए उत्कृष्ट कार्यों की प्रगति रिपोर्ट रखी। बैठक में कुलपति डा. एके शुक्ला, पूर्व विधायक राजेश शुक्ला, कृषि सचिव शैलेश बगोली, निदेशक प्रशासन पंत विवि जीवन सिंह नागनियाल, निदेशक प्रसार डा. अनिल कुमार, निदेशक शोध डा. एके नैन, अधिष्ठाता कृषि महाविद्यालय डा. एसके कश्यप, अधिष्ठाता गृह विज्ञान महाविद्यालय डा.अलका गोयल, अधिष्ठाता पशु चिकित्सा एवं विज्ञान महाविद्यालय डा. एनएस जादौन, अधिष्ठाता विज्ञान एवं मानविकीय महाविद्यालय डा. संदीप अरोड़ा, अधिष्ठाता प्रौद्योगिकी महाविद्यालय डा. अलकनंदा अशोक, अधिष्ठाता छात्र कल्याण डा. बृजेश सिंह आदि उपस्थित रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *