अग्निपथ भर्ती योजना का विरोध कर रहे युवाओं को पलिस ने दौड़ा दौड़ा कर पीटा | Jokhim Samachar Network

Saturday, June 25, 2022

Select your Top Menu from wp menus

अग्निपथ भर्ती योजना का विरोध कर रहे युवाओं को पलिस ने दौड़ा दौड़ा कर पीटा

हल्द्वानी। अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में हल्द्वानी में एकाएक बड़ी संख्या में युवा सड़क पर उतर आए। युवाओं ने रोडवेज स्टेशन के पास सड़क जाम कर दी। बताया जा रहा है प्रदर्शनकारियों में हल्द्वानी की सैन्य अकादमियों में सेना भर्ती की तैयारी कर रहे युवा बड़ी संख्या में शामिल है।
हल्द्वानी में प्रदर्शनकारी युवाओं को भगाने के लिए पुलिस  को लाठीचार्ज करना पड़ा। इसके अलावा नैनीताल के पहाड़ी क्षेत्रों से भी युवा पहुंचे। एलआईयू रिपोर्ट के अनुसार हल्द्वानी में प्रदर्शन की तैयारी गुरुवार सुबह से ही चल रही थी। एकाएक सड़क पर उतरे युवाओं को समझाने में पुलिस जुटी रही लेकिन ये युवा कुछ भी सुनने को तैयार नहीं थे। अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में उतरे ये युवक हल्द्वानी में नैनीताल हाईवे पर धरना दे रहे थे तो  पुलिस ने इनको  यहां  से हटने के लिए कहा लेकिन ये नहीं माने और पुलिस के साथ इन युवाओं की नोक झोंक होने लगी, नोक झोंक के बीच कुछ युवकों ने नारेबाजी करनी शुरू कर दी। इस पर पुलिस का पारा चढ़ गया और देखते ही देखते पुलिस ने इनको दौड़ा दौड़ा कर पीटना शुरू कर दिया।   पुलिस के लाठीचार्ज करते ही प्रदर्शनकारी तीतर-बीतर हो गए।  इसके साथ ही दूसरी ओर शुक्रवार की  सुबह करीब आठ बजे युवा धीरे-धीरे हल्द्वानी रोडवेज स्टेशन पर एकत्र होने लगे। इसके बाद जुलूस की शक्ल में तिकोनिया चौराहे पहुंचे। बड़ी संख्या में भीड़ जुटती देख पुलिस बल भी चौराहे पर पहुंच गया। पुलिस को देख युवाओं ने नारेबाजी शुरू कर दी। करीब एक घंटे तक धरने पर बैठे युवाओं को एसडीएम और सिटी मजिस्ट्रेट समझाते रहे लेकिन उनका गुस्सा शांत नहीं हुआ। बाद में पुलिस ने लाठीचार्ज कर युवाओं को खदेड़ दिया।
खटीमा में शनिवार तक के लिए लगाई गई धारा 144
खटीमा। गुरुवार को दोपहर में अग्निपथ के विरोध में हुए विरोध प्रदर्शन और जाम के बाद रात के समय तहसील गेट पर लगाया गया टेंट प्रशासन ने हटवा दिया। प्रदर्शनकारी शुक्रवार की सुबह यहां धरने पर बैठने वाले थे। जिसे एसडीएम रविंद्र सिंह बिष्ट ने विफल कर दिया है। प्रशासन किसी भी तरह के धरना प्रदर्शन पर नजर बनाए हुए है। खटीमा में शनिवार तक के लिए धारा 144 लगा दी गई है। दो वर्ष पूर्व सेना में भर्ती के लिए फिजिकल टेस्ट पास कर चुके युवा जो लिखित परीक्षा का इंतजार कर रहे थे। इस भर्ती प्रक्रिया को रद्द करने के विरोध में सैकड़ों की संख्या में युवक सड़कों पर उतर आए थे।
युवाओं की भीड़ देख पुलिस प्रशासन के हाथ पांव फूल गए थे। युवाओं की भीड़ ने प्रदर्शन के साथ ही सड़क जाम कर दी थी। युवा सेना में भर्ती रद्द करने और अग्नीपथ योजना का विरोध कर रहे थे। प्रदर्शन के बाद युवाओं की तैयारी शुक्रवार को तहसील गेट पर धरना प्रदर्शन की थी। युवाओं ने शाम के समय तहसील के बाहर वाटरप्रुफ टेंट लगा दिया था, जिसकी भनक जैसे ही एसडीएम बिष्ट को हुई उन्होंने देर शाम ही टेंट हटा दिया। एसडीएम बिष्ट ने कहा कि तहसील का गेट किसी भी धरना प्रदर्शन के लिए नहीं है। उन्होंने कहा कि यहां पर किसी भी स्थिति में धरना प्रदर्शन नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने युवाओं को समझाकर वापस भेज दिया और टेंट हटा दिया। पुलिस प्रशासन इस तरह के धरना प्रदर्शन पर लगातार नजरें बनाए हुए है। इधर कोतवाल नरेश चौहान ने कहा कि सार्वजनिक संपत्ति, प्राइवेट संपत्ति, सड़क जाम की घटनाओं को नहीं होने दिया जाएगा। ऐसे तत्वों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।
खटीमा में रेलवे स्टेशन पर पुलिस तैनात
अग्निपथ को लेकर पूरे देश मे चल रहे आंदोलन और रेलवे स्टेशनों पर हुई आगजनी को देखते हुवे पुलिस अलर्ट है। शुक्रवार को बाजार चौकी प्रभारी होशियार सिंह के नेतृत्व में पुलिस के जवान रेलवे स्टेशन में मुस्तेद रहे। स्टेशन अधीक्षक कौशल कुमार वाष्णेय ने बताया कि अभी तक कोई ट्रेन लेट नही है। यहां कोई भी युवा प्रदर्शन के लिए नही आया है। रेलवे स्टेशन के बाहर कुछ लोगों के एकत्रित होने की सूचना थी, लेकिन यहां कोई नही आया है।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *