देश को मिले 341 जांबाज सेना ऑफि़सर | Jokhim Samachar Network

Sunday, July 25, 2021

Select your Top Menu from wp menus

देश को मिले 341 जांबाज सेना ऑफि़सर

बारिश के कारण दो घंटे देरी से शुरू हुई पासिंग आउट परेड़
देहरादून,आजखबर। भारतीय सैन्य अकादमी में पासिंग आउट परेड़ में अंतिम पग पार करने के बाद 341 युवा अफ़सरों की टोली देश पर मर-मिटने की शपथ लेकर शनिवार को भारतीय सेना का अभिन्न अंग बन गई। सेना के दक्षिण-पश्चिमी कमान के जनरल ऑफि़सर कमांडिंग ले- जनरल आरपी सिंह ने बतौर रिव्यूइंग ऑफि़सर परेड़ का निरीक्षण कर पासिंग आउट जेंटलमैन कैडेट्स से सलामी ली।
ऐतिहासिक चेटवुड भवन के सामने ड्रिल स्क्वायर पर परेड़ शुरू हुई। सेना के दक्षिण-पश्चिमी कमान के जनरल ऑफि़सर कमांडिंग ले- जनरल आरपी सिंह ने बतौर रिव्यूइंग ऑफि़सर परेड़ का निरीक्षण कर जेंटलमैन कैडेट्स से सलामी ली। कोरोना संक्रमण के खतरे को देखते हुए इस बार भी परेड़ सादगी से आयोजित हुई। बारिश की वजह से शनिवार को पासिंग आउट परेड़ दो घंटे की देरी से शुरू हुई। डिप्टी कमांडेंट जगजीत सिंह ने परेड़ की सलामी ली। जिनके पश्चात कमांडेंट हरिंदर सिंह ने परेड़ की सलामी ली। उनके बाद ले- जनरल आरपी सिंह परेड़ स्थल पहुंचे और परेड़ की सलामी ली।
पिछली बार की तरह इस बार भी कैडेट्स के परिजन पासिंग आउट परेड़ नहीं देख पाए। परेड़ के उपरांत आयोजित पीपिंग व ओथ सेरेमनी के बाद 425 जेंटलमैन कैडेट्स बतौर लेफ्टिनेंट देश-विदेश की सेनाओं का अभिन्न अंग बन गए। इनमें 341 युवा सैन्य अधिाकारी भारतीय थलसेना को मिले। जबकि, 84 युवा सैन्य अधिाकारी नौ मि= देशों अफ़गानिस्तान, तजाकिस्तान, भूटान, मॉरीशस, श्रीलंका, वियतनाम, टोंगा, मालदीव और किर्गिस्तान की सेना का अभिन्न अंग बने। इसके बाद देहरादून स्थित प्रतिष्ठित भारतीय सैन्य अकादमी के नाम देश-विदेश की सेना को 62 हजार 987 युवा सैन्य अधिाकारी देने का गौरव जुड़ गया है। इनमें मि= देशों को मिले 2587 सैन्य अधिाकारी भी शामिल हैं। ले- जनरल सिंह ने कैडेटों को ओवरऑल बेस्ट परफ़ॉर्मेंस व अन्य उत्कृष्ट सम्मान से नवाजा। मुकेश कुमार को स्वार्ड ऑफ़ ऑनर प्रदान किया गया। जबकि दीपक सिंह को स्वर्ण, मुकेश कुमार को रजत व लवनीत सिंह को कांस्य पदक मिला। दक्ष कुमार पंत ने सिल्वर मेडल द्धटीजीऋ हासिल किया। किन्ले नोरबू सर्वश्रेष्ठ विदेशी कैडेट चुने गए। चीफ़ ऑफ़ आर्मी स्टॉफ़ बैनर डोगराई कंपनी को मिला।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *