देश के विभाजन के पक्षधर नहीं थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी – विनय कंडवाल | Jokhim Samachar Network

Thursday, August 05, 2021

Select your Top Menu from wp menus

देश के विभाजन के पक्षधर नहीं थे श्यामा प्रसाद मुखर्जी – विनय कंडवाल

डोईवाला (आसिफ हसन) डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी की जयंती के उपलक्ष्य में डोईवाला नगर मंडल के स्थान दून जायका भानियावाला में मंडल उपाध्यक्ष आशा सेमवाल की अध्यक्षता में दीप प्रज्वलित कर मुखर्जी की जयंती समारोह आयोजित किया गया। जिसमें कार्यक्रम का संचालन जिला संयोजक नमामि गंगे वेदप्रकाश कंडवाल के द्वारा किया गया। मंडल अध्यक्ष विनय कंडवाल एवं मुख्य वक्ता मंडल महामंत्री मनवर नेगी ने कहा कि डॉ श्यामा प्रसाद मुखर्जी का जन्म 06 जुलाई 1901 को अखण्ड भारत के निर्माण के लिए ही हुआ था वे कभी भी देश के विभाजन के पक्षधर नहीं थे और उन्होंने इसी क्रम में कश्मीर को भारत का अभिन्न अंग मानकर कश्मीर से धारा 370 एवं 35A को हटाने की मांग लेकर कश्मीर चले गए वहां उन्हें कैद कर लिया गया और 23 जून 1953 को उनकी संदेहास्पद मौत की घोषणा हुई उनके बलिदान एवं प्रेरणा तथा पार्टी के कार्यकर्ताओं के मनोबल से आज भारतीय जनता पार्टी विश्व की सबसे बड़ी पार्टी बनी है जो कि संगठनात्मक एवं राजनैतिक दल के रूप में अग्रेसित है एवं वर्तमान मोदी सरकार ने धारा 370 एवं 35 A को हटाकर कश्मीर की उन्नति एवं मुखर्जी के विचारों को मूर्त रूप देने का कार्य किया । इस अवसर पर सम्पूर्ण सिंह रावत, ममता नयाल,आरती लखेड़ा,हिमांशु राणा,संदीप नेगी, नितिन बड़थ्वाल,संपूर्णानंद ध्यानी,जीवन प्रकाश जोशी,संजीव सैनी ,कुंवर सिंह सजवाण,गणेश उनियाल,नवीन चंद्र जोशी,अवतार सिंह रावत,दीपक नेगी,आनंद पंवार,मनोज चौधरी,सुंदर लोधी,अमन,सुमित,रितिक, पंकज बहुगुणा,सतेंद्र आदि भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे ।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *