सतपाल महाराज ने नैनीताल को दी 19 करोड़ 44 लाख 52 हजार की सौगात  | Jokhim Samachar Network

Monday, January 17, 2022

Select your Top Menu from wp menus

सतपाल महाराज ने नैनीताल को दी 19 करोड़ 44 लाख 52 हजार की सौगात 

– संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने किया राष्ट्रीय चित्रकला कार्यशाला का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ
नैनीताल।  प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, लद्यु सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने मंगलवार नैनीताल क्लब में ललित कला अकादमी भारत सरकार तथा संस्कृति विभाग उत्तराखण्ड के सहयोग से राष्ट्रीय चित्रकला शिविर में बतौर मुख्य अतिथि पहुंचकर दीप प्रज्वलित कर कार्यशाला का शुभारम्भ किया। इस दौरान उन्होने लोनिवि, पर्यटन एवं सिंचाई विभाग की 19 करोड 44 लाख 52 हजार की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास भी किया।
प्रदेश के पर्यटन, लोक निर्माण, सिंचाई, लद्यु सिंचाई, धर्मस्व एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने मंगलवार को नैनीताल क्लब में रंगीत आर्ट सेंटर हल्द्वानी, ललित कला अकादमी भारत सरकार एवं संस्कृति विभाग के संयुक्त तत्वाधान आयोजित राष्ट्रीय चित्रकला कार्यशाला का दीप प्रज्वलित कर शुभारंभ किया।
उन्होेने लोनिवि रामनगर-काशीपुर मार्ग, लगत 210.38 के लाखहल्दुवा थारी कन्दला मार्ग के पुननिर्माण एवं सुधारीकरण कार्य, 295.35 लाख से निर्मित होने वाले रामनगर टान्सपोर्ट से तेलीपुरा चिल्किया मार्ग के विस्तारीकरण तथा 282.86 लाख की धनराशि से बनने वाले रामनगर रिंग रोड के हाथीडंगर से मालधन ढेला नदी तक चौडीकरण व पुननिर्माण कार्य का शिलान्यास किया।
पर्यटन मंत्री सतपाल महाराज ने विधानसभा रामनगर में हल्द्वानी बस स्टैंड में हाईटेक सुलभ शौचालय लागत 34.82 लाख, नैनीताल में सुलभ शौचालय लागत 31.39 लाख, नैनीताल कुमाऊं मंडल विकास निगम के मुख्यालय भवन लागत 466.06 लाख के कार्यों का लोकार्पण करने के अलावा ग्राम तल्ला-मल्ला निगलाट विकासखंड बेतालघाट पर्यटक अवस्था अपना सुविधाओं के विकास कार्य लागत 71.08 लाख, नैनीताल कैंट क्षेत्र के अंतर्गत पाइंस स्थित कैथोलिक सिमिट्टी का मेमोरियल पार्क के रूप में विकास लागत 137.57 लाख, भवाली वार्ड नंबर 2 के अंतर्गत प्राचीन धर्मशाला का जनजातीय संग्रहालय के रूप में विकास लागत 63.35 लाख, ग्राम सुनकिया विकासखंड धारी में पर्यटक अवस्थापना सुविधाओं
का विकास लागत 67.80 लाख, भीमताल स्थित लोक संस्कृति संग्रहालय का विकास एवं सौन्दर्यीकरण लागत 24.62 लाख, हल्द्वानी, बसानी स्थित बावन डांट का जीर्णोद्धार एवं सौंदर्यकरण लागत 39.45 लाख का शिलान्यास भी किया।
सिंचाई मंत्री सतपाल महाराज ने सामूहिक सिंचाई योजना नया गांव संभल एवं हिम्मतपुर विधानसभा क्षेत्र लाल कुआं में धूल निर्माण कार्य लागत 58.57 लाख, सामूहिक सिंचाई योजना पदमपुर देवलिया-।। विधानसभा क्षेत्र लालकुआं में गुल का निर्माण कार्य लागत 82.37 लाख, सोलर पंप लिफ्ट सिंचाई योजना के अंतर्गत भीमताल में सोलर पम्प की स्थापना लागत 9.50 लाख, भीमताल स्थित बडौन में सोलर पंप की स्थापना लागत 9.85 लाख, हरीशताल में सोलर पंप की स्थापना लागत 9.50 लाख एंव नैनीताल स्थित पाली में सोलर पंप की स्थापना लागत 10.00 लाख का लोकार्पण भी किया।
उन्होने लोनिवि, पर्यटन एवं सिंचाई विभाग की कुल 19 करोड 44 लाख 52 हजार की विभिन्न योजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया।
अवसर पर बतौर मुख्य अतिथि अपने सम्बोधन में सतपाल महाराज ने कहा कि ललित कला अकादमी को उत्तराखण्ड में भी शीघ्र स्थापित किया जायेगा। इसके लिए राज्य सरकार प्रयासरत है। उन्होेने कहा कि हमें अपनी संस्कृति की पहचान को दुनिया के कोने कोने में पहुंचाना है ताकि यहां के कलाकारों को विश्व में एक मंच मिल सके। महाराज ने कहा कि हमें अपनी मूल संस्कृति को नहीं भूलना चाहिए। उन्होने कहा यह कार्यक्रम भारतरत्न पं. गोविन्द बल्लभ पंत की स्मृति पर आयोजित किया रहा है। हमें पंडित जी के जीवन से प्रेरणा लेते हुए उनके आदर्शो पर चलना होगा। कैबिनेट मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि उत्तराखण्ड के वाद्ययंत्र ढोल, दमाऊ हमारी विरासत हैं और उनको बढ़ावा देने के लिए सरकार लगातार प्रयासरत् है। उन्होने कहा कि ढोल दमाऊ कार्यशाला का वृहद आयोजन कर उसे गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में शामिल करने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होने कार्यक्रम में चन्द्र सिंह गढवाली व जयनन्द भारती को भी याद किया और कहा कि इन महान विभूतियों की संस्कृति को भी हमें बचाये रखना है।
महाराज ने कहा उत्तराखण्ड एक संस्कृति का हब है। हमें अपनी संस्कृति को ज्यादा से ज्यादा बढावा देना है ताकि हमारे कलाकार अपनी पहचान के साथ-साथ हमारी संस्कृति का परचम पूरी दुनिया मे फहरा सकें।
राष्ट्रीय चित्रकला कार्यशाला में विभिन्न प्रान्तोें से आये 25 कलाकारों को मंत्री जी। द्वारा चित्रकला से सम्बन्धित सामग्री देकर सम्मानित किया गया। उन्होने कहा कलाकार विभिन्न स्थानों पर जाकर वहां की संस्कृति को संजोकर संग्रहित करें ताकि हमारी विलुप्त हो रही संस्कृति एवं वाद्य यंत्र को पुनः जीवित किया जा सके।
कार्यक्रम में ललित अकादमी के अध्यक्ष नंदलाल ठाकुर, प्रोफेसर डा. रिचा कंबोज ने मंत्री सतपाल महाराज एवं पूर्व कैबिनेट मंत्री अमृता रावत को स्मृति चिन्ह एवं अंगवस्त्र देकर सम्मानित किया। कार्यक्रम में विभिन्न सांस्कृतिक दलों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रमों की प्रस्तुति दी।
कार्यक्रम में मुख्य विकास अधिकारी डा0 संदीप तिवारी, अध्यक्ष ललित अकादमी नंदलाल ठाकुर, प्रो0 डा0 रिचा कंबोज, महाप्रबन्धक केएमवीएम एपी बाजपेयी, प्रबंधक निदेशक नरेन्द्र सिह भण्डारी, जिला पर्यटन अधिकारी अरविन्द गौड, उपजिलाधिकारी प्रतीक जैन, अधिशासी अभियन्ता रविन्द्र कुमार, मण्डल अध्यक्ष भाजपा आनंद बिष्ट, नीरज जोशी, महेश के साथ ही कई अधिकारी कर्मचारी एवं गणमान्य लोग उपस्थित थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *