छोई मिली लाश का पुलिस ने किया खुलासा,दो सगे भाई पकड़े गये | Jokhim Samachar Network

Saturday, May 25, 2024

Select your Top Menu from wp menus

छोई मिली लाश का पुलिस ने किया खुलासा,दो सगे भाई पकड़े गये

हल्द्वानी । पुलिस ने छोई में नग्न अवस्था में मिली लाश की घटना का खुलासा करते हुए दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है। महज पेड़ काटने को लेकर आरोपियों ने इस घटना को अंजाम दिया था। पकड़े गए आरोपी सगे भाई हैं।
एसपी सिटी हल्द्वानी हरबंस सिंह ने हत्या का खुलासा करते हुए बताया कि 7 अक्टूबर को घटना का अंजाम देने के बाद 8 अक्टूबर को मृतक गोविन्द सिंह फर्त्याल पुत्र भूपाल सिंह निवासी किशनपुर छोई का शव ग्राम किशनपुर छोई में पनचक्की के पास नहर पर ताश से बरामद हुआ था। मृतक के शरीर पर कपड़े नहीं थे तथा शरीर पर जगह जगह चोटों के निशान थे। जिससे प्रथम दृष्टया मृतक की हत्या करना प्रतीत हो रहा था। मृतक का पंचनामा व पोस्टमार्टम की कार्यवाही के बाद मृतक के पुत्र सौरभ फर्त्याल की तहरीर पर प्रभारी निरीक्षक अरुण कुमार सैनी के नेतृत्व में पुलिस टीमों का गठन किया गया। पुलिस ने घटनास्थल के आसपास के 50-60 व्यक्तियों के बयान लिए और सीसीटीवी फुटेज का अवलोकन किया। पुलिस के अथक प्रयासों के बाद प्रकाश में आया कि मृतक गोविन्द फर्त्याल के खेत से कुछ दिन पहले किसी ने पेड़ काट दिए थे, मृतक को शक था कि उसके खेत से पेड़ आरोपी कुन्दन सिंह के भाई संतोष उर्फ सोढ़ी तथा उसके साथियों ने काटे हैं। इस बात से मृतक काफी नाराज था तथा 7 अक्टूबर को मृतक गोविन्द सिंह आरोपी कुन्दन सिंह के घर गया था जहां उसकी कुन्दन सिंह से काफी बहस हुयी। जब पुलिस ने कुन्दन सिंह के घर पर दबिश दी तो वह घर पर नहीं मिला। लगातार निगरानी करने के बाद पुलिस को जानकरी मिली कि कुन्दन सिंह नया कोशी पुल हल्द्वानी बस अड्डे पर है तथा कहीं भागने की फिराक में है। पुलिस ने उसे वहीं दबोच लिया।पूछताछ के दौरान आरोपी कुंदन ने बताया कि गोविन्द फर्त्याल के खेत से कुछ दिन पहले किसी ने पेड़ काट दिए थे, जिसका शक वे गांव के जिन लोगों पर शक कर रहे थे, उनमे एक मेरा भाई संतोष उर्फसोडी भी था । 7 अक्टूबर को जब वह घर पहुंचा तो मेरी माँ किचन मे सब्जी काट रही थी तथा हमारे मकान की छत पर गोविन्द फर्त्याल था जो अपमानजनक बातें कर अपने कटे पेड़ो के पैसे मांग रहा था। जब वह माँ को गाली करने लगा, जो मुझे अच्छा नही लगा। मेरी गोविन्द से बहस हो गई इसी बीच मैने उसे छत से उसे धक्का दे दिया, जिससे गोविन्द सीडियों पर गिर गया तथा उसे चोट लग गई । झगड़ा देखकर माँ किचन से अपने कमरे को चली गई थी। गोविन्द किचन मे ही बड़बड़ा रहा था व हमें गालिया दे रहा था। इसी बीच मेरा छोटा भाई भोपाल बिष्ट उर्फ घन्नु जो कि होटल मे काम करता है वह भी घर आ गया था, जब उसने भी गोविन्द को गालिया देते देखा तथा माँ को गाली देने की बात सुनी तो उसे भी गुस्सा आ गया फिर मैने व मेरे भाई भोपाल सिंह ने लात घुसो से गोविन्द फर्त्याल को पीटा तथा उसके सिर को फर्श पर पटक दिया जिससे वो अचेत हो गया। हम डर गए थे हमे लगा कि यदि यह ठीक हो गया तो यह हमारी शिकायत करेगा हम दोनो भाई इसे घसीटते हुए मकान के पीछे तरफ खेत से होते हुए बरसाती नाले के नीचे नहर के उपर ले गये थे, इस दौरान घसीटने से गोविन्द का लोवर व बनियान उतर गयी तथा अन्डर वियर भी उतर गया था। फिर मैने नहर की दीवार पर गोविन्द को लेटाकर चैक किया उसके मुँह पर पानी के छीटें मारे तो गोविन्द के शरीर मे कोई हलचल नही हुई। इस बीच मेरा भाई भोपाल उर्फ़ घन्नु नहर से नीचे कूदकर घर को चला गया था तथा मैने भी गोविन्द को धक्का देकर नहर में डाल दिया तथा मै भी घर को चला गया। हमने उसके शव को नहर मे इसलिए डाला ताकि वह पानी के साथ बह जाए तथा किसी को कुछ पता न चले। वहीं पुलिस ने दूसरे आरोपी भोपाल सिंह विष्ठ उर्फ घन्नू उपरोक्त को भी रोजवेज बस अड्डे के अन्दर रामनगर से गिरफ्तार कर लिया।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *