अल्मोड़ा संसदीय सीट पर एक बार फिर परंपरागत प्रतिद्वंद्वी आमने-सामने अल्मोड़ा सीट पर किसकी होगी जीत? | Jokhim Samachar Network

Saturday, April 20, 2024

Select your Top Menu from wp menus

अल्मोड़ा संसदीय सीट पर एक बार फिर परंपरागत प्रतिद्वंद्वी आमने-सामने अल्मोड़ा सीट पर किसकी होगी जीत?

संसदीय सीट पर एक बार फिर परंपरागत प्रतिद्वंद्वी आमने-सामने हैं। यह चौथी बार है जब अजय और प्रदीप आमने-सामने होंगे। भाजपा प्रत्याशी अजय टम्टा जीत की हैट्रिक बनाने के लिए चुनावी मैदान में संघर्ष करते दिखाई देंगे, वहीं कांग्रेस के प्रत्याशी प्रदीप टम्टा जीतने के लिए फिर दमखम दिखाएंगे। प्रदीप टम्टा के सामने अब मतदाताओं के विश्वास जीतने के चुनौती है। उत्तराखंड में चिपको आंदोलन के साथ ही नशा नहीं रोजगार दो जैसे जमीनी आंदोलन से अपनी राजनीति की शुरुआत करने वाले प्रदीप टम्टा बाद में कांग्रेस में शामिल हो गए। पहले विधानसभा चुनाव वर्ष 2002 में कांग्रेस ने सोमेश्वर सीट से प्रदीप टम्टा को टिकट दिया, लेकिन अजय टम्टा टिकट की दौड़ में पिछड़ गए। भाजपा ने उन्हें टिकट नहीं दिया। उन्होंने निर्दलीय प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ा। पार्टी से अजय टम्टा की बगावत प्रदीप के काम आई। प्रदीप जीते और एनडी तिवारी सरकार में दर्जा मंत्री रहे।
वर्ष 2007 के विधानसभा चुनाव में सोमेश्वर सीट से भाजपा ने अजय टम्टा को टिकट दिया। वह चुनाव जीतने में सफल रहे और सरकार में मंत्री भी बने। वर्ष 2009 में अल्मोड़ा संसदीय सीट आरक्षित हुई। तब भाजपा-कांग्रेस ने अजय और प्रदीप पर ही भरोसा जताया। यह चुनाव कांग्रेस के प्रदीप टम्टा जीतने में सफल रहे। वर्ष 2009 में प्रदीप ने अजय को 6950 वोटों से मात दी और अल्मोड़ा पिथौरागढ़ सीट अपने नाम की। मोदी लहर में एक बार फिर अजय टम्टा की किस्मत पलटी। मोदी लहर में वह वर्ष 2014 व 2019 के लोकसभा चुनाव जीतने में कामयाब रहे। 2014 लोकसभा में प्रदीप और अजय के बीच फिर से मुकाबला हुआ। 2009 के चुनाव में अजय जहाँ 6950 वोट से पीछे रह गए थे वहीं 2014 में बाज़ी पलटते हुए 95,690 वोटों से जीते। प्रदेश में हरीश रावत के मुख्यमंत्री रहने के दौरान 2016 में उनको प्रदेश से राज्यसभा के लिए भी भेजा गया। 2014 की जीत अजय ने 2019 के चुनावों में भी बरक़रार रखी। 2019 के लोकसभा चुनाव में यह अंतर बढ़ गया। 2019 में यह अंतर बढ़कर 2,32,986 पहुँच गया और प्रदीप के सपने एक बार फिर धरे रह गए।
अब 2024 के चुनाव में लगातार चौथी बार अजय टम्टा और प्रदीप टम्टा अल्मोड़ा संसदीय सीट पर दोनों एक बार फिर आमने-सामने हैं। उम्मीद है कि दोनों के बीच दिलचस्प मुकाबला देखने को मिलेगा। जनता का दिल जीतने को प्रदीप भी प्रयास कर रहे हैं। पीएम मोदी इस बार जोर शोर से 400 पार का नारा लगा रहे हैं भाजपा भी पूरे जोश में है, तो अल्मोड़ा संसदीय सीट से प्रदीप की नैया पार होगी या नहीं यह जनता जनार्दन बताएगी।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *