फोन पर फिरौती की मांग करने वाले चार आरोपी गिरफ्तार | Jokhim Samachar Network

Monday, January 17, 2022

Select your Top Menu from wp menus

फोन पर फिरौती की मांग करने वाले चार आरोपी गिरफ्तार

तमंचे, कारतूस, बाईक, मोबाईल फोन बरामद
हरिद्वार।  पचास लाख रूपए की फिरौती मांगने ओर जान से मारने की धमकी देने के मामले का खुलासा करते हुए बहादराबाद पुलिस व सीआईयू टीम ने 4 आरोपियों को गिरफ्तार किया है। आरोपियों के कब्जे से तीन तमंचे, कारतूस, दो बाईक, चार मोबाइ्रल फोन बरामद हुए हैं। एसएसपी ने पुलिस टीम को पांच हजार रूपए नकद ईनाम देने की घोषणा की है।
पत्रकारों के समक्ष मामले का खुलासा करते हुए एसएसपी डा.योगेंद्र सिंह रावत ने बताया कि बीते साल सितम्बर में ग्राम अहमदपुर ग्रन्ट निवासी सुरेन्द्र सिंह ने 50 लाख की फिरौती दिए जाने के लिए धमकी भरा फोन आने तथा ना देने पर जान से मारने की धमकी देने का आरोप लगाते हुए मुकद्मा दर्ज कराया था। मुकद्मा दर्ज करने के बाद मामले के खुलासे तथा आरोपियों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस व सीआईयू टीम का गठन किया गया।
पुलिस टीम ने जिन नंबरों से फिरौती की मांग तथा धमकी दी जा रही है, की जांच की तो पता चला कि सभी नम्बर वर्चुअल निकले। फोन नम्बरों की कॉल डिटेल के माध्यम से घटना का अनावरण किया जाना कठिन हो गया। सीआईयू द्वारा गहनता से इसका विश्लेषण किया गया तो पाया कि धमकी देने वाली कॉल इन्टरनेशनल कॉल है तथा जिस विदेशी कम्पनी के माध्यम से कॉल की जाती थी, वह कम्पनी भारत में प्रतिबन्धित है। जिस कारण से इन्टरनेशल कॉलर की जानकारी नहीं मिल पा रही थी। गहनता से जानकारी जुटाने व सर्विलान्स किए जाने पर घटना में संलिप्त अभियुक्तों की जानकारी प्राप्त हुई। जांच में सामने आए तथ्यों के आधार पर बहादराबाद पुलिस सीआईयू टीम ने चार आरोपियों परीक्षित उर्फ प्रिंस पुत्र रामपाल शर्मा, मंजीत पुत्र राजेन्द्र निवासी ग्राम सहदेवपुर थाना पथरी, विनीत पुत्र स्वपन कुमार निवासी ग्राम भारोदा थाना दौराला मेरठ उ.प्र. हाल निवासी दक्ष इन्कलेव कालोनी सराय रोड कोतवाली ज्वालापुर व शेरखान पुत्र इमरान निवासी सरकडी थाना गंगनहर जिला हरिद्वार को गिरफ्तार कर लिया। पूछताछ में आरोपियों ने फिरौती मांगने तथा धमकी देने में संलिप्ता कबूल करते हुए बताया कि उनके साथ आलम पुत्र इमरान निवासी सरकडी थाना गंगनहर हाल पता सउदी अरब भी शामिल था। आरोपियों के खिलाफ पुलिस में कई मामले दर्ज हैं।
एसएसपी ने बताया कि इस प्रकार की घटना उत्तराखण्ड में पहली बार हुई है, जिसका अनावरण करना उत्तराखण्ड पुलिस के लिए एक चुनौती थी। इस प्रकार की घटना का पहली बार खुलासा सीआईयू एवं बहाराबाद पुलिस द्वारा किया गया है।
पुलिस टीम में बहाराबाद थानाध्यक्ष रणवीर सिंह चौहान, एसएसआई गजेन्द्र सिंह रावत, एसआई अकरम, एसआई हेमदत्त भारद्वाज, कांस्टेबल बलवीर चौहान, मुकेश नेगी, अमित भट्ट, दिनेश चौहान, सीआईयू प्रभारी निरीक्षक नरेन्द्र सिंह बिष्ट, एसआई रणजीत सिंह तोमर, एसआई जहांगीर अली, हेडकांस्टेबल सुन्दर लाल, कांस्टेबल विवेक यादव, हरवीर सिंह रावत, नरेन्द्र सिंह, उमेश कुमार, पदम सिंह, अजय कुमार, वसीम अकरम, मनोज कुमार, नितिन, महीपाल आदि शामिल रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *