डा. सुजाता संजय ने कोरोना वायरस लाॅकडाउन के दौरान गर्भवती महिलाओं के लिए दिए टिप्स | Jokhim Samachar Network

Tuesday, June 02, 2020

Select your Top Menu from wp menus

डा. सुजाता संजय ने कोरोना वायरस लाॅकडाउन के दौरान गर्भवती महिलाओं के लिए दिए टिप्स

देहरादून। माताओं को महामारी में लाॅकडाउन के दौरान घर पर रहने की सलाह दी जाती है। इससे भी अधिक यदि आप या आपके किसी करीबी ने कोरोना वायरस के लिए परीक्षण कराया है, तो अपना ध्यान रखें तथा सावधानी बरतें। संजय आॅर्थोपीडिक स्पाइन एण्ड मैटरनिटी सेंटर जाखन देहरादून उत्तराखण्ड की प्रसूति एंव स्त्री रोग विश्ेाषज्ञ राष्ट्रपति öारा पुरूस्कृत डाॅ0 सुजाता संजय  लाॅकडाउन के दौरान गर्भवती महिलाओं को बताया कि गर्भवती महिलाओं को यह सुनिश्चित करना चाहिए कि उनके आहार में प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने वाले पदार्थ फल, पत्तेदार सब्जियाॅ, सूखे मेंवे आयरन, कैलशियम एंव विटामिन युक्त भोज्य पर्दाथ लेते रहना चाहिए जो कि डाॅ0 द्वारा  निर्धारित किये गये हैं। डाॅ0 सुजाता संजय ने सलाह दी है कि लाॅकडाउन के दौरान अपने व अपने बच्चों के स्वास्थ्य की देखभाल रखना हमारा कर्तव्य हैं।
डाॅ0 सुजाता संजय नें बताया कि व्यायाम, योग, घरेलू कसरत जो कि आपके लिए सुरक्षित हो वो आप कर सकते हैं। नियमित व्यायाम आपके प्रजनन अंगो प्रतिरक्षा प्रणाली और परिसंचरण को अच्छा रखने में सिö हुआ है और आपको स्वस्थ शरीर और दिमाग को अच्छा बनाये रखने में मदद करता है। लाॅकडाउन मे प्रसव पूर्व और प्रसव के बाद की कक्षाओं को रद् कर दिया गया, इसके लिए आनलाइन क्लासेज और लाइव प्रश्न और उत्तर एक दूसरे तक पहुचाने का एक शानदार तरीका है। आॅनलाइन  कोर्स को अपने घर पर रहकर आसानी से पूरा किया जा सकता हैं। ये कार्यक्रम महिलाओं के शारीरिक और मनोवैज्ञानिक दृष्टिकोण ज्ञान प्रदान करने का अच्छा तरीका है। यह उनके लिए घर पर रहकर आरामदायक साधनों और तकनीकों का भी काम करता है। डाॅ0 सुजाता संजय नें सभी गर्भवती महिलाओं को सरकारी निर्देशानुसार नियमित रुप से 20 सेकेण्ड के लिए अपने हाथ धोने की और अपने चेहरे को ना छूने की सलाह दी।
यदि आपको आवश्यक कार्य के लिए बाहर जाना पड़े तो आप सामाजिक दूरी बनाकर रखे, अन्यथा जहाॅ तक सम्भव हो अपने घर पर स्वयं को अलग रखें। अगर जरुरी हो तो अस्पताल  जानें के लिये सार्वजनिक परिवहन के उपयोग से बचें। डाॅ0 सुजाता ने मरीजों को सलाह दी  कि अगर जरुरी हो तो ही अस्पताल जायें अपने रिकार्ड को हमेशा सम्भालकर रखें ताकि आपसे कोई भी गलतियां ना हो। यदि आपको बुखार, सांस लेंनें में तकलीफ, दस्त जैसे लक्षण हों तो तुरन्त अपने डाॅ0 को सूचित करें या सलाह लें।कोई व्यक्ति जिसका कोरोना (कोविड-19) का पाॅजिटिव परीक्षण आया हो तथा सामान्य सर्दी, खांसी की स्वतः लेने वाली दवाओं से बचें।
डाॅ0 सुजाता संजय ने बताया कि कोरोना प्रतिबन्धों के कारण कई अस्पताल आपके प्रसव के दौरान एक से अधिक परिजनों को अस्पताल में आने की अनुमति नही देते है। इसलिये प्रसव के दौरान सुनिश्चित करें कि जीवन साथी ही सम्भवतः देख-रेख करें अपने घर के अन्य सदस्यों और दोस्तो को समझायें कि बिना वजह अस्पताल ना आयें।प्रसव के बाद घर पर माँ और बच्चों की देखभाल के लिए उचित सदस्य हांे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *