पाठ्य पुस्तकें विद्यालयों तक पहुंचाने की व्यवस्था करे विभाग: दुर्गा | Jokhim Samachar Network

Saturday, July 02, 2022

Select your Top Menu from wp menus

पाठ्य पुस्तकें विद्यालयों तक पहुंचाने की व्यवस्था करे विभाग: दुर्गा

विकासनगर। उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ की ब्लॉक इकाइयों की संयुक्त बैठक में पाठ्य पुस्तकों के वितरण का मुद्दा छाया रहा। शिक्षकों ने
किताबों को संकुलवार विद्यालयों में भेजे जाने की मांग की। मंगलवार को उत्तराखंड राज्य प्राथमिक शिक्षक संघ जूनियर हाई स्कूल शिक्षक संघ की ब्लॉक इकाइयों की संयुक्त बैठक कन्या जूनियर हाईस्कूल हरबर्टपुर में संपन्न हुई। बैठक में शिक्षकों की समस्याओं पर चर्चा करने के साथ ही विद्यालयों में छात्रों के लिए पर्याप्त संसाधन मुहैया कराए जाने की मांग विभागीय अधिकारियों से की गई। जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ की ब्लॉक अध्यक्ष दुर्गा रावत ने कहा कि छात्रों को दी जाने वाली निशुल्क पाठ्य पुस्तकें संकुल वार विद्यालयों में भेजी जानी चाहिए। विभागीय अधिकारियों ने सभी संकुलों की पाठ्य पुस्तकों को ब्लॉक संसाधन केंद्र में रखवा दिया है। जहां से स्कूलों तक किताबें ले जाने में शिक्षकों को दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। कहा कि ब्लाक संसाधन केंद्र से प्राथमिक विद्यालय मदर्सू, जूनियर हाईस्कूल पष्टा की दूरी करीब तीस से चालीस किलोमीटर है, ऐसे में शिक्षकों के सामने विद्यालयों तक पुस्तकों को पहुंचाना चुनौती भरा साबित हो रहा है। इसके साथ ही 104 प्राथमिक और 34 जूनियर हाईस्कूल की पाठ्य पुस्तकों का वितरण एक ही जगह से करने में भी परेशानी होती है। प्राथमिक शिक्षक संघ के ब्लॉक अध्यक्ष प्रवीण वर्मा ने कहा कि मासिक परीक्षा का डाटा ब्लॉक स्तर पर ही अपलोड करने की व्यवस्था की जानी चाहिए। जूनियर हाईस्कूल शिक्षक संघ के ब्लॉक मंत्री बीरबल कश्यप ने ग्रीष्मकालीन अवकाश दो जून से किए जाने पर नाराजगी जाहिर करते हुए कहा कि शेष दिनों का शिक्षकों को उपार्जित अवकाश या प्रतिकर दिया जाना चाहिए। वरिष्ठ उपाध्यक्ष अजय सैनी ने मांग रखी कि सभी विद्यालयों को कंप्यूटर के साथ ही प्रिंटर भी उपलब्ध कराए जाने चाहिए, जिससे उन्हें विभागीय पत्रजातों के प्रिंट के लिए साइबर कैफे का चक्कर न लगाना पड़े। बैठक के दौरान 2019 के बाद सेवानिवृत्त हुए शिक्षकों के लिए जल्द ही विदाई एवं सम्मान समारोह आयोजित करने का निर्णय भी लिया गया। इसके साथ ही शिक्षकों ने सेवा पुस्तिका और भविष्य निधि पुस्तिका को संकुलवार दिखाने की मांग भी विभागीय अधिकारियों से की है। साथ ही बताया कि तबादला ऐक्ट लागू करने और अन्य समस्याओं को लेकर प्रदेश नेतृत्व के साथ जल्द ही शिक्षा मंत्री से मुलाकात की जाएगी। इस दौरान जिला मंत्री सूरज मंद्रवाल, सुषमा रानी, कमल सुयाल, मो. मुज्जमिल हयात, मधु पटवाल, योगेश गुप्ता, भंगापाल, नरेश चौधरी, कुशलमणि, दीपा सेमवाल, सुदेश गुप्ता आदि मौजूद रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *