मुख्यमंत्री धामी ने की केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव शिष्टाचार भेंट  | Jokhim Samachar Network

Tuesday, June 18, 2024

Select your Top Menu from wp menus

मुख्यमंत्री धामी ने की केंद्रीय रेलमंत्री अश्विनी वैष्णव शिष्टाचार भेंट 

देहरादून। उत्तराखंड के लंबित रेल प्रोजेक्ट को लेकर मुख्यमंत्री पुष्कर धामी ने केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मुलाकात की। उन्होंने देहरादून-मोहंड-सहारनपुर को रेल लाइन से जोड़ने, टनकपुर से दून के बीच जनशताब्दी और रामनगर से दिल्ली के बीच शताब्दी रेल सेवा शुरू करने का अनुरोध किया। मंगलवार को दिल्ली में मुख्यमंत्री धामी ने केंद्रीय मंत्री वैष्णव से शिष्टाचार मुलाकात की। उन्होंने कहा कि राजधानी दून से नई दिल्ली तक रेल की यात्रा करने के लिए मौजूदा समय में हरिद्वार होकर जाना पड़ता है। हरिद्वार-देहरादून रेल लाइन सिंगल लेन है और दून से हरिद्वार तक का अधिकांश हिस्सा राजाजी नेशनल पार्क के अंतर्गत आता है। उन्होंने कहा कि वन्यजीव जंतुओं के सुरक्षा के मद्देनजर रेल की गति अत्यंत नियंत्रित रहती है और इससे आवागमन में अधिक समय लगता है।
उन्होंने कहा कि देहरादून से मोहंड होते हुए सहारनपुर तक रेल लाइन जिसका कुछ भाग टनल के माध्यम से भी होगा, बनाई जानी चाहिए। इससे दून और दिल्ली के बीच रेल से आवागमन त्वरित होगा और उत्तराखंड में पर्यटकों की आवाजाही सुविधाजनक होने के साथ-साथ व्यवसायिक गतिविधियों को भी बल मिलेगा। धामी ने ऋषिकेश-कर्णप्रयाग रेल परियोजना में अपनाई जा रही टनल प्रणाली के समान ही दून से सहारनपुर को मोहंड होते हुए रेलवे से जोड़ने के लिए टनल आधारित रेल लाइन परियोजना की संभावना का परीक्षण कराकर परियोजना की स्वीकृति देने का आग्रह किया।
मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि टनकपुर-देहरादून के बीच जनशताब्दी और दिल्ली- रामनगर के मध्य शताब्दी एक्सप्रेस रेल सेवा का संचालन भी जरूरी है। कहा कि वर्तमान में कुमाऊं और गढ़वाल को जोड़ने के लिए देहरादून-काठगोदाम जनशताब्दी एक मात्र रेल सेवा है। कुमाऊं क्षेत्र के एक बड़े हिस्से के साथ-साथ नेपाल बोर्डर होने से वहां के लोगों का आवागमन भी टनकपुर से ही होता है। इसलिए टनकपुर-देहरादून के मध्य एक जनशताब्दी रेल सेवा की जरूरत है
उन्होंने कहा कि रामनगर स्थित प्रसिद्ध पर्यटन स्थल जिम कार्बेट नेशनल पार्क में देश-विदेश से पर्यटकों का निरंतर आवागमन होता है। दिल्ली- रामनगर शताब्दी एक्सप्रेस रेल सेवा शुरू होने से पर्यटकों की आवाजाही बढ़ेगी और स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिल सकेगा।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *