चमार वाल्मिीकि महासंघ ने की दिल्ली पुलिस की जवान के हत्यारों को कड़ी सजा देने की मांग – | Jokhim Samachar Network

Sunday, September 26, 2021

Select your Top Menu from wp menus

चमार वाल्मिीकि महासंघ ने की दिल्ली पुलिस की जवान के हत्यारों को कड़ी सजा देने की मांग –

हरिद्वार। चमार वाल्मीकि महासंघ के कार्यकर्ताओं ने दिल्ली पुलिस की जवान के हत्यारों के खिलाफ कड़ी कानूनी कार्यवाही एवं पीड़ित परिवार को एक करोड़ रूपया मुआवजा, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी, आवास तथा सुरक्षा दिए जाने की मांग को लेकर सिटी मजिस्ट्रेट पर प्रदर्शन कर राष्ट्रपति के नाम ज्ञापन प्रेषित किया। चमार वाल्मीकि महासंघ के संस्थापक अध्यक्ष भंवर सिंह ने प्रदर्शनकारियों को संबोधित करते हुए कहा कि दिल्ली पुलिस की जवान के साथ सामूहिक बलात्कार कर चाकूओं से गोदकर हत्या कर दी गई। हत्यारों ने उसके साथ हैवानियत का नंगा नाच कर देश व दुनिया को शर्मसार किया है। इतनी बड़ी घटना पर देश के राजनीतिक दलों की चुप्पी बेटियों की बलात्कार व हत्या करने वाले अपराधियों को संरक्षण साबित हो रही है। महासंघ के महानगर अध्यक्ष चैधरी सुनील राजौर ने कहा कि भारत के मूलनिवासी बहुजन समाज की बहन बेटियों पर लगातार जुल्मों सितम हो रहा है। मूल निवासियों की बहन -बेटियों के साथ हो रही गंभीर घटनाओं से साबित हो रहा है कि आजादी के 74 साल बाद भी एससी, एसटी, ओबीसी एवं अल्पसंख्यक सुरक्षित नहीं है। प्रदेश अध्यक्ष राजेंद्र श्रमिक ने कहा कि दिल्ली के मुख्यमंत्री केजरीवाल उत्तराखंड में 300 यूनिट फ्री बिजली के गारंटी कार्ड बटवां रहे हैं। लेकिन दिल्ली में पुलिस की जवान के साथ गुंडों द्वारा सामूहिक बलात्कार कर चाकूओं से गोदकर की गयी दर्दनाक हत्या पर चुप्पी साधे हुए हैं। श्रमिक ने कहा कि चमार वाल्मीकि महासंघ उत्तराखंड के तमाम कार्यकर्ता घटना की घोर निंदा करते हैं और मांग करते हैं कि दोषियों के खिलाफ अविलंब कड़ी कानूनी कार्यवाही की जाए एंव मृतका के पीड़ित परिवार को एक करोड़ रूपया मुआवजा, परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी तथा आवास एवं परिवार को सुरक्षा प्रदान की जाए। प्रदर्शन करने व ज्ञापन देने वालों में जिलाध्यक्ष भानपाल सिंह रवि, युवा जिला अध्यक्ष विपिन पेवल, महानगर अध्यक्ष वीरेंद्र श्रमिक, रफल पाल, पुरुषोत्तम, मोहम्मद नसीर अहमद, मोहम्मद इकराम एडवोकेट, जगपाल तहसील संयोजक मुकेश श्रमिक, संजय बालाजी, अमित चंचल, आशीष राजौर, ऋषभ बहोत, शिवा चंचल, राजा, अमन डॉन, आयुष, राजेश, प्रिंसिपल फूल सिंह, कवि एवं शायर मोहम्मद सकलेन, जसवंत, सलेखचंद, अशोक हवलदार, प्रमोद बिरला, संजय चुटेला, राजेश खन्ना आदि शामिल रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *