भाजपा सरकार ने दलित, पिछड़े समाज के व्यक्तियों को कुचलने का काम किया :  यशपाल आर्य   | Jokhim Samachar Network

Sunday, January 23, 2022

Select your Top Menu from wp menus

भाजपा सरकार ने दलित, पिछड़े समाज के व्यक्तियों को कुचलने का काम किया :  यशपाल आर्य  

रुड़की।  पूर्व कैबिनेट मंत्री और कांग्रेस नेता यशपाल आर्य ने कहा कि भाजपा सरकार ने दलित, पिछड़े समाज के व्यक्तियों को कुचलने का काम किया है। अनुसूचित जाति के व्यक्तियों का सबसे अधिक उत्पीड़न हुआ है। साढ़े चार साल तक वह लगातार इसकी आवाज उठाते रहे, लेकिन भाजपा में कोई सुनने वाला नहीं है। उनका दम घुटने लगा, इसलिए उन्होंने भाजपा को छोड़ दिया है। अब कांग्रेस ही प्रदेश में सही नेतृत्व देगी। मंगलौर में हुई जनसभा में उन्होंने यह बात कही।
उन्होंने कहा कि प्रदेश में बेरोजगारी चरम पर है। युवा साढ़े चार साल से इस सरकार से रोजगार की आस लगाए बैठे हैं, लेकिन कोई उनकी सुनने वाला नहीं है। भाजपा ने हमेशा अनुसूचित जाति के लोगों को वोट बैंक के रूप में इस्तेमाल किया है। भाजपा ने अनुसूचित, पिछड़ों के लिए भी लोक कल्याणकारी योजना शुरू नहीं की हैं। हमेशा बाबा साहब डा। आंबेडकर के सिद्धांतों का विरोध किया है। उन्होंने कहा कि बसपा ने कभी अनुसूचित समाज को उनका हक देने का काम नहीं किया है। केवल बसपा उनके वोटों की बोली लगाती रही है। इस बार कांग्रेस ही प्रदेश में सरकार बनाएगी और विकास की राह पर आगे ले जाने का काम करेगी।
उन्होंने कहा कि झबरेड़ा और भगवानपुर क्षेत्र में जहरीली शराब के कारण कई मौतें हुई। जिसमें अधिकतर व्यक्ति अनुसूचित जाति के थे, लेकिन इस सरकार ने उनके उत्थान के लिए कोई काम नहीं किया। विधायक काजी निजामुद्दीन ने कहा कि भाजपा और बसपा दलितों के विकास पर नहीं, उनके वोट पर नजर रखती है। आरक्षित वर्ग के लोग अब दोनों पार्टियों को सबक सिखाने का काम करेंगे। पिछली कांग्रेस सरकार ने दलितों के हित में कई योजनाएं चलाई थी, जिसे भाजपा सरकार ने बंद कर दिया है।
इस अवसर पर राव आफाक अली, रश्मि चौधरी, विजेंद्र जाति, प्रदुमन अग्रवाल, अजय मौर्य, प्रोफेसर देवेंद्र प्रताप सैनी, राजीव राठौर, डा। सुशील मौर्य, पंकज कुमार, ओमवीर सिंह, राहुल कुमार, ओम सिंह, चौधरी इस्लाम, संजीव प्रधान आदि मौजूद रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *