आंचल-अमृत योजना को मिड-डे-मील में शामिल किया जाएगा  | Jokhim Samachar Network

Saturday, March 28, 2020

Select your Top Menu from wp menus

आंचल-अमृत योजना को मिड-डे-मील में शामिल किया जाएगा 

-मंत्री ने ली डेरी विकास विभाग की समीक्षा बैठक
देहरादून। राज्यमंत्री (स्वतंत्र प्रभार) डाॅ0 धन सिंह रावत ने विधान सभा स्थित कार्यालय कक्ष में डेरी विकास विभाग की बैठक ली। बैठक में निर्णय लिया गया कि आगामी 12 मार्च को देहरादून में आंचल-अमृत योजना को मिड-डे-मील में शामिल करने के साथ ही आँचल-अमूल के मध्य हुए समझौतों के क्रम में तैयार किये जाने वाले विभिन्न उत्पादों का मुख्यमंत्री द्वारा विधिवत् शुभारम्भ किया जायेगा। इसी प्रकार महिला डेरी विकास परियोजना के 25 वर्ष (सिल्वर जुबली) पूर्ण होने पर हल्द्वानी में आगामी 20 मार्च को कार्यक्रम आयोजित कर मुख्यमंत्री के द्वारा निदेशालय भवन के शिलान्यास के साथ ही विभिन्न कार्यक्रम भी आयोजित किए जायंेगे।
बैठक में डाॅ. धन सिंह रावत ने डेरी विकास विभाग के अन्तर्गत संचालित योजनाओं आंचल अमृत योजना को मिड-डे-मील में शामिल किये जाने, हल्द्वानी में प्रस्तावित डेरी विकास विभाग के निदेशालय भवन निर्माण कार्यों की प्रगति, महिला डेरी विकास परियोजना के 25 वर्ष पूर्ण होने पर प्रस्तावित कार्यक्रमों की समीक्षा, पशु आहार व साईलेज के उत्पादन एवं विपणन, विभाग के अन्तर्गत कराये जा रहे निर्माण कार्यों व प्रस्तावित कार्यों की समीक्षा के साथ ही राज्य में आंचल एवं अमूल के मध्य हुए परस्पर समझौतों के क्रम में तैंयार किये जाने वाले उत्पादों की जानकारी ली। डाॅ. रावत ने अधिकारियों को डेरी विकास विभाग के अन्तर्गत विभिन्न योजनाओं के अन्तर्गते निर्माणाधीन कार्यों को नियत समय सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए। उन्होंने विभागीय कार्यदायी संस्था ‘उत्तराखण्ड सहकारी डेरी फेडरेशन लिमिटेड’ द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यों की क्षमता 2.5 करोड़ से बढ़ाकर 5 करोड़ तक किये जाने हेतु प्रस्ताव तैयार करने के भी निर्देश दिये। पशु आहार निर्माण शाला द्वारा अर्जित लाभ में और अधिक वृद्धि किये जाने, राज्य के अन्तर्गत दुग्ध संघों की दुग्ध उत्पादन बकाया धनराशि का विवरण तैयार कर प्रस्ताव शासन को उपलब्ध कराने के निर्देश विभागीय मंत्री द्वारा दिये गये।
विभागीय अधिकारियों द्वारा बैठक में अवगत कराया गया कि अमूल एवं आँचल के मध्य हुए समझौते के तहत दुग्ध संघ देहरादून में पनीर, दूध एवं दुग्ध पदार्थों की पैकिंग अमूल ब्राण्ड नाम से कराया जाना तय हुआ है इसके लिए तरल दूध व पैकिंग मैटिरियल अमूल कम्पनी द्वारा ही उपलब्ध कराया जायेगा। इसके अतरिक्त पैकिंग कार्य के लिए देहरादून दुग्घ संघ को प्रोसेसिंग एवं पैकेजिंग चार्जेज भी अमूल द्वारा ही वहन किया जायेगा। इस प्रकार देहरादून दुग्घ संघ को प्रतिमाह लगभग 25 लाख का अतरिक्त व्यापार प्राप्त होने के साथ ही रूपये 7 लाख तक का शुद्ध लाभ होगा। अमूल से हुए अनुबन्ध के पश्चात दुग्ध संघ देहरादून द्वारा अमूल ब्राण्ड नाम से पनीर की पैकिंग प्रारम्भ कर दी गयी है तथा माह अप्रैल से दूध एवं अन्य दुग्ध पदार्थों की पैंकिग भी प्रराम्भ कर दी जायेगी।
बैठक में आर.आई.डी.एफ. योजना के अन्तर्गत निर्माणाधीन कार्यों दुग्घ अवशीतन केन्द्र नैनीताल के जीर्णोद्वार, सम्पर्क मार्ग, मिल्क स्टोरेज टैंक, दुग्घ अवशीतन केन्द्र कालाढुंगी, हेड़िया गांव, रूद्रपुर, ताड़ीखेत, कमेड़ी बागेश्वर, किलमोड़ी चम्पावत, हरबटपुर देहरादून, कोटद्वार आदि की समीक्षा की गयी। इसी प्रकार राष्ट्रीय कृषि विकास योजना के तहत देहरादून दुग्ध संघ में निर्माणधीन ब्वायलर कक्ष निर्माण, राष्ट्रीय डेरी विकास योजना के अन्तर्गत दुग्ध संघ गोदाम ऊधमसिंह नगर व पिथौरागढ़ में रिसेप्शन एवं फैक्ट्री फ्लोर कार्यों व नैनीताल में सर्विस ब्लाॅक निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की गयी। इस अवसर पर सचिव डेरी विकास आर.मीनाक्षी सुन्दरम, संयुक्त निदेशक डेरी विकास जयदीप अरोड़ा, सामान्य प्रबन्धक डाॅ. एच.एस.कुटौला, उप सामान्य प्रबन्धक डाॅ. मोहन चन्द्र, सहायक निदेशक महिला डेरी विकास परियोजना डाॅ. एल.एम. जोशी, प्रधान प्रबन्धक दुग्ध संघ देहरादून मानसिंह पाल, उप महा प्रबन्धक निर्माण आर.एम.तिवारी, आदि अधिकारी मौजूद थे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *