प्रदेश के युवाओं के हक के लिए सड़क पर उतरेंगेः भावना पांडे | Jokhim Samachar Network

Tuesday, January 19, 2021

Select your Top Menu from wp menus

प्रदेश के युवाओं के हक के लिए सड़क पर उतरेंगेः भावना पांडे

देहरादून । उत्तराखंड की प्रसिद्ध समाजसेवी और उद्योगपति भावना पांडे का कहना है कि अगर सरकार तुरंत प्रदेश के युवाओं के लिए रोजगार की ठोस नीति नहीं घोषित करती है तो वे और उनका एनजीओ युवाओं के हक के लिए सड़कों पर उतरेगा। पूरे प्रदेश में व्यापक आंदोलन चलाया जाएगा और सरकार को उखाड़ फेंकने का आह्वान किया जाएगा।
भावना पांडे ने कहा कि पृथक उत्तराखंड राज्य का आंदोलन युवाओं ने बढ़ चढ़कर लड़ा और वे जेलों में रहे,लेकिन अब तक की सरकारों के गलत रवैये के कारण युवाओं के लिए ठोस नीति अब तक नहीं बन पाई है। न कांग्रेस और न बीजेपी दोनों ही दलों का रवैया इस संबंध में नकारात्मक ही रहा है। अब जब चुनाव आ रहे हैं तो त्रिवेंद्र सिंह रावत ने युवाओं को स्वरोजगार स्कीम का झुनझना पकड़ा दिया है। सच्चाई ये है कि स्वरोजगार के नाम पर अब तक हजारों में ही आवेदन हो पाए हैं, जबकि प्रदेश में नौ लाख से ज्यादा बेरोजगार युवा रजिस्टर्ड हैं और करीब दो लाख प्रवासी युवा प्रदेश में लौटे हैं।
मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना के तहत युवा ऑनलाइन एप्लाई तक नहीं कर पा रहे हैं। जो युवा अप्लाई कर चुके हैं उन्हें बैंकों के चक्कर काटने पड़ रहे हैं। उनकी लोन की फाइलें ही इधर से उधर घूम रही हैं। ऐसे में बेरोजगार युवाओं को आखिर स्वरोजगार कैसे मिल पाएगा। भावना पांडे ने कहा कि ऐसे बेरोजगार युवाओं से मैं खुद मिली हूं और उन्होंने मुझे मुख्यमंत्री स्वरोजगार योजना में आ रही बेतहाशा दिक्कतों से अवगत कराया है। अगर मुख्यमंत्री इस ओर सच में संवेदनशील और गंभीर हैं तो उन्हें इसकी तुरंत समीक्षा करनी चाहिए और योजना को धरातल पर सुचारू तरीके से उतारने के लिए अफसरों और विभागों को सख्त निर्देश देने चाहिए। भावना पांडे ने कहा कि उनका संगठन प्रदेश के युवाओं के रोजगार के लिए काम कर रहा है। हम इस ओर मॉडर्न तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं। इसके लिए हमारा संगठन फिलहाल एक वेबसाइट तैयार कर रहा है जिसका काम जोरों पर चल रहा है और इसे एक महीने के भीतर ही लॉन्च कर दिया जाएगा। यूकेआत्मनिर्भर डॉट कॉम के नाम से हम वेबसाइट बना रहे हैं। इस दिशा में हमारा मकसद प्रदेशभर के बेरोजगार युवाओं को वेबसाइट में रजिस्टर्ड करना है। साथ ही हम इसमें व्यापार करने वाली कंपनियों का भी रजिस्ट्रेशन करेंगे। यानि बेरोजगार और रोजगार देने वाला दोनों ही एक मंच पर होंगे। इसी के मार्फत दोनों एक दूसरे के पूरक बनेंगे। इसके लिए हमने बड़ी कंपनियों से टाइअप किया है। भावना पांडे ने कहा कि प्रदेश में कारोबार करने वाली हर कंपनी को प्रदेश के ही 70 फीसदी बेरोजगारों को रोजगार देना सुनिश्चित कराया जा जाएगा। उन्होंने कहा कि ये प्रावधान प्रदेश में पहले से रखा गया है लेकिन प्रदेश की सरकारों ने कभी युवाओं की फिक्र नहीं की। सत्ता दल हमेशा व्यापारिक प्रतिश्ठानों का ही हित देखती रही हैं। भावना पांडे ने कहा कि हम युवाओं के हितों की अनदेखी किसी भी हालत में बर्दाश्त नहीं करेंगे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *