वर्चुअल महावीर संदेश रैली 13 दिसंबर को, भगवान महावीर के संदेशों को घर-घर पहुंचाया जाएगा | Jokhim Samachar Network

Thursday, March 04, 2021

Select your Top Menu from wp menus

वर्चुअल महावीर संदेश रैली 13 दिसंबर को, भगवान महावीर के संदेशों को घर-घर पहुंचाया जाएगा

देहरादून । जैन समाज के स्वर्णिम इतिहास में पहली बार भारतीय जैन मिलन द्वारा पूरे भारतवर्ष में जैन धर्म के 24वें तीर्थंकर भगवान महावीर के 2547 निर्वाण वर्ष पर उनके संदेशों को घर-घर पहुंचाने के लिए ऐतिहासिक वर्चुअल महावीर संदेश रैली रविवार 13 दिसंबर को आयोजित की जाएगी। यह वर्चुअल संदेश रैली सायं 7.30 बजे से 9 बजे तक ऑनलाइन होगी। इस महारैली का लाइव फेसबुक यूट्यूब पारस चैनल एवं जिनवाणी टीवी चैनल पर प्रसारण किया जाएगा।
गांधी रोड स्थित जैन भवन में विचार गोष्ठी वार्ता को संबोधित करते हुए नरेश चंद जैन राष्ट्रीय महामंत्री ने बताया कि महावीर संदेश महारैली से पूरे देश भर में 100000 से अधिक व्यक्ति प्रतिभाग करेंगे। जैन परंपरा में तीर्थंकरों का स्थान सर्वोपरि है। आदिनाथ से महावीर तक 24 तीर्थंकर हुए जिनशासन के उज्जवल नक्षत्र भगवान महावीर 24 वे तीर्थंकर हैं। उन्होंने मानव को उसके परम लक्ष्य एवं कर्तव्य का बोध कराया और आत्मा से परमात्मा बनने की कला सिखाई महावीर किसी एक धर्म जाति समुदाय के ना होकर संपूर्ण मानव जाति के थे। आज पूरा भारत मां भगवान महावीर के 2547 वे निर्माण को दीपावली पर्व के रूप में मना रहा है। कार्तिक कृष्ण चतुर्दशी को रात्रि के अंतिम पहर में स्वाति नक्षत्र के रहते हुए ईसवी पूर्व 527 में मोक्ष पद प्राप्त किया देव मानव सभी ने महावीर स्वामी के निर्माण उत्सव मनाया द्वार द्वार मंगल दीप जलाए गए देहरादून क्षेत्र के 12 से 82 वर्ष के एक लाख किशोर युवा महिलाएं पुरुष और बुजुर्गों सम्मिलित होंगे। वहीं भगवान महावीर के संदेशों भगवान महावीर के चित्र संदेश पुस्तिका को घर-घर पहुंचाने के लिए जैन मिलन के कार्यकर्ताओं द्वारा कार्य किया जा रहा है सभी जैन मंदिरों स्थान को में बैनर होर्डिंग लगाए जा रहे हैं। डॉक्टर संजीव जैन क्षेत्रीय मंत्री ने कहा कि महारैली को भारतीय जैन मिलन के राष्ट्रीय अध्यक्ष सुरेश जैन ऋतुराज संबोधित करेंगे। महावीर संदेश घर-घर पहुंचाना है प्रत्येक आत्मा में परमात्मा बनने की योग्यता है अहिंसा परमो धर्म जियो और जीने दो मनुष्य जन्म से ही नहीं कर्म से महान बनता है परस्परो ग्रहों जीवानाम आदि संदेश थे भगवान महावीर को वर्धमान वीर अतिवीर सन्मति व महावीर नामों से भी जाना जाता है। इस अवसर पर मधु जैन केंद्रीय महिला संयोजिका ने बताया कि भगवान महावीर के संदेश आज भी प्रासंगिक हैं। संसार में सर्वत्र हिंसा और स्वार्थ का वातावरण है ऐसे में भगवान महावीर के जियो और जीने दो का संदेश प्रसारित करना जरूरी है। क्षेत्रीय कार्यकारी अध्यक्ष व जैन भवन के मंत्री संदीप जैन ने बताया कि 15 नवंबर 2020 को प्रातः पूजा प्रक्षाल व श्री जी के अभिषेक के पश्चात निर्वाण लड्डू चढ़ाया जाएगा। संध्या में आरती होगी। सभा में डॉक्टर संजीव जैन क्षेत्रीय मंत्री संदीप जैन क्षेत्रीय कार्यकारी अध्यक्ष सुनील कुमार जैन राष्ट्रीय उपाध्यक्ष मधु जैन केंद्रीय महिला संयोजिका राहुल जैन राकेश जैन संयुक्त मंत्री संजीव जैन प्रवीण जैन संजय जैन आदि ने भी अपने विचार व्यक्त किए।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *