मौसम बदल रहा है अपने स्‍वाथ्‍य  का ध्‍यान रखें : डा0 छाया | Jokhim Samachar Network

Friday, December 03, 2021

Select your Top Menu from wp menus

मौसम बदल रहा है अपने स्‍वाथ्‍य  का ध्‍यान रखें : डा0 छाया

श्रीनगर गढ़वाल । इन दिनों जिस तरह से मौसम बदल रहा है ऐसे में हर किसी को अपने स्‍वाथ्‍य का विशेष ख्याल रखने की जरूरत है। पिछले कुछ दिनों से दोपहर में तेज धूप व सुबह-शाम हल्की ठंडक रही, और फिर लगातार बारिश होने से ठंडक एकदम से बढ़ गई है। इस तरह का मौसम आपकी तबीयत नासाज कर सकता है। ऐेसे में हमें अपना ख्‍याल रखना बहुत जरूरी है।
ऐसे में डाक्‍टर की सलाह मानना बहुत जरूरी है। हमारे संवाददाता ने वरिष्‍ठ फिजिशियन डा छाया पैन्‍यूली भट्ट से बात की। उन्‍होंने बताया कि तापमान में आ रहे बदलाव के कारण शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता काफी कमजोर होने लगती है, जिससे बीमार होने का खतरा बढ़ जाता है। इस दौरान बुखार, खांसी व जुकाम के मरीजों की संख्या बढ़ने लगती है। ऐसे वक्त पर बच्चों और बुजुर्गों का विशेष ध्यान रखना चाहिए। पीने का पानी भी साफ होना चाहिए और अधिक ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए। सुबह शाम गर्म कपड़े पहनने के साथ ही सिर को भी ढककर रखना चाहिए। खांसी, कोल्ड व फ्लू होने पर चिकित्सकीय परामर्श लेना चाहिए।
बच्चों को लेकर रहें सचेत
मौसम के उतार-चढ़ाव के बीच बच्चों के स्वास्थ्य के प्रति सचेत रहना होगा। जरा सी भी लापरवाही भारी पड़ सकती है। रायपुर अस्पताल के चिकित्साधीक्षक एवं वरिष्ठ बाल रोग विशेषज्ञ डा. पीएस रावत ने बताया कि इस दौरान बच्चों के खानपान व पहनावे पर विशेष ध्यान देना चाहिए। बच्चों को ठंडे पानी से न नहलाएं। गुनगुना पानी पिलाएं। खुले बदन न सुलाएं। रात में ठंड लगने पर चादर ढक दें। तबीयत खराब होने पर चिकित्सक की सलाह से तुरंत दवा लें।
ये बरतें सावधानी
इस मौसम में संक्रमण का खतरा होता है इसलिए ऐसे में पहनावे पर खास ध्यान देना चाहिए और जहां तक हो सके हल्के गर्म कपड़े पहनें।
खान-पान का भी विशेष ध्यान रखना चाहिए और अधिकतम पौष्टिक आहार लेना चाहिए, इससे प्रतिरोधक क्षमता बढ़ती है।
ठंडे पदार्थों का सेवन बिल्‍कुल न करें ताकि आप  वायरल बुखार से बचे रहें।
अगर सिर दर्द या बुखार महसूस हो तो अपनी मर्जी से दवा न लें।
सुबह की सैर के साथ योग भी अच्छा व्यायाम होता है। बदलते मौसम में नियमित योग करना चाहिए।
मौसम बदलने पर खासी और फेफड़ों से संबंधित बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। इससे पीडि़त मरीज को रोजाना भाप लेने के साथ नमक मिले गुनगुने पानी से गरारा करना चाहिए। इसके साथ ही यदि आपको किसी तरह की परेशानी महसूस हो तो तत्‍काल अपने नजदीकी चिकित्‍सक से सम्‍पर्क करें और दवा का सेवन करें।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *