गर्भ में शिशु को नहीं फैलता कोरोना वायरसः डाॅ. सुजाता | Jokhim Samachar Network

Friday, November 27, 2020

Select your Top Menu from wp menus

गर्भ में शिशु को नहीं फैलता कोरोना वायरसः डाॅ. सुजाता

देहरादून। कोरोना वायरस ने लगभग पूरे विश्व में अपना आतंक फैला दिया है। दुनिया के 210 से ज्यादा देशों पर कोरोना का कहर जारी हैं अब तक करीब 1,08000 लोगों की मौत हो चुकी है। इससे बचाव के लिए ही सरकार की ओर से लॉकडाउन लगाया गया फिर भी हर दिन नये मामले सामने आ रहे हैं जिससे हर किसी के मन में एक अनजाना भय घर करता जा रहा है। इस बीच कोरोना को लेकर एक स्टडी में पाया गया है कि नोवल कोरोना का संक्रमण प्रेग्नेंट महिला से उसके बच्चे में नहीं होता और नवजात को कोई हेल्थ संबंधी समस्या भी नहीं होती है।
डाॅ0 सुजाता संजय, स्त्री एवं प्रसूति रोग विशेषज्ञ, संजय आॅर्थेापीडिक, स्पाइन एवं मैटरनिटी सेंटर ने बताया कि जिसके घर में गर्भवती हो उसे तो और भी ज्यादा डर लगा रहता है कि कहीं उसे और उसके होने वाले बच्चे को कुछ न हो जाए। यहां आपको यह ध्यान रखना होगा कि डरने से कुछ नहीं होता पर सावधान रहना होगा। हर किसीको इस समय सतर्क और सावधान रहने की जरूरत है वहीं गर्भवती महिलाओं पर तो दोहरी जिम्मेदारी है। उन्हें अपना और होने वाले बच्चे का भी ध्यान रखना है तो ज्यादा सावधान रहना चाहिए। क्योंकि इस दौरान मां सिर्फ अपना शरीर ही नहीं बल्कि अपनी इम्युनिटी पावर भी बच्चे के साथ बांट रही होती हैं। डाॅ0 सुजाता संजय ने बताया जहां हर तरफ कोरोना वायरस का खतरा मंडरा रहा है, वहीं गर्भवती महिलाओं को थोड़ा सतर्क रहना जरूरी हैं। ये इसलिए क्योंकि गर्भवती महिलाओं में संक्रमण की संभावना सामान्य के विपरित अधिक होती है। लेकिन चिंता करने की कोई बात नहीं है, सही समय पर सही सावधानियां आपकी पूरी मदद करेंगी। कोरोना वायरस ने आज पूरी दुनिया को यह संदेश दे दिया हैं कि मानव किसी भी देश मे रह रहा हैं वह कभी भी इस तरह की आपदा से प्रभावित हो सकता है। कोरोना वायरस (कोविड-19) का संबंध वायरस के ऐसे परिवार से है, जिसके संक्रमण के जुकाम से लेकर सांस लेने में तकलीफ जैसी समस्या हो सकती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, बुखार, खाँसी, सांस लेने में तकलीफ आदि इसके लक्षण हैं, अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है। डाॅ0 सुजाता संजय ने बताया कि हालांकि इस बीमारी के लक्षण बुखार, खाँसी, सांस लेने में तकलीफ आदि आम फ्लू के ही होते हैं। लेकिन इस कोरोना वायरस के दौरान यही आम से लक्षण आपके लिए मिनटों में जानलेवा बन जाते हैं। अब तक इस वायरस को फैलने से रोकने वाला कोई टीका नहीं बना है। गर्भवती महिलाओं को  थोङी  सी सावधानी अपनाने चाहिए जिससे कि उन पर और उनके होने वाले बच्चे पर कोरोना का असर ना पड़े और शिशु को जीवनदान दे सकती है। गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत ज्यादा जरूरी है कि वो अपनी डाइट को अच्छी करें। इसके लिए वो अपनी डाइट में हरी सब्जियां, दूध, फल और दाल जैसी चीजें शामिल कर सकती हैं। अच्छे से अच्छा खाएं और स्वस्थ रहें।
गर्भवती महिलाओं के लिए बहुत जरूरी है कि वो साफ-सफाई का खास ध्यान रखें। हर 1 घंटे में अपने हाथों को अच्छे से धोएं। इसके साथ ही वे सेनिटाइजर का भी इस्तेमाल कर सकती हैं। गर्भवती महिलाओं को चाहिए कि वो लोगों से दूरी बनाकर रखें।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *