मां भगवती की कृपा से दूर होगी कोरोना महामारीः पंडित अधीर कौशिक | Jokhim Samachar Network

Monday, May 25, 2020

Select your Top Menu from wp menus

मां भगवती की कृपा से दूर होगी कोरोना महामारीः पंडित अधीर कौशिक

हरिद्वार। अखण्ड परशुराम अखाड़े के अध्यक्ष पंडित अधीर कौशिक के आवास पर कोरोना से देश को मुक्ति दिलाने के उद्देश्य से किए जा रहे यज्ञ के छठे दिन मां कात्यायनी की पूजा अर्चना कर देश को संकट से मुक्ति दिलाने तथा कोरोना वायरस को समाप्त करने की प्रार्थना की गयी । पंडित अधीर कौशिक ने कहा कि मां भगवती की कृपा से जल्द ही कोरोना वायरस का प्रकोप समाप्त होगा। दुनिया पर छाया महामारी का खतरा दूर होगा। उन्होंने कहा कि बीमारी से बचने के लिए अनुष्ठान जरूरी हैं।
 नवरात्रों में सभी को घरों में रहकर मां भगवती के निमित्त यज्ञ हवन करना चाहिए। उन्होंने कहा कि यज्ञ कुण्ड से उठने वाला धुंआ वातावरण को शुद्ध करता है। यज्ञ धुआं कोरोना वायरस को भगाने का भी सबसे सशक्त माध्यम है। मां के सभी स्वरूपों की पूजा करने से कोरोना वायरस अवश्य ही देश से समाप्त होगा। हिंदू संस्कृति में यज्ञ पौराणिक काल से ही होते चले आ रहे हैं। आसुरी शक्तियों को दूर भगाने के लिए भी ऋषि मुनियों द्वारा यज्ञ किए जाते थे। आचार्य पंडित विष्णु शर्मा ने कहा कि पंडित अधीर कौशिक के आवास पर किया जा रहा यज्ञ अवश्य ही मानव जाति के लिए कल्याणकारी सिद्ध होगा। सच्चे मन व निष्ठा से यज्ञ में आहुति देने से अवश्य ही देश पर आ रहे संकट का निदान होगा। हमें धैर्य रखने की आवश्यकता है। देश दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है। राज्य व देश पर आ रहे इस संकट को मां भगवती ही दूर करेगी। उन्होंने कहा कि सब लोग मिलकर अपने घरों में पूजा अर्चना करें। मां की शक्तियां अपरंपार हैं। जो लोग लाॅकडाउन में अपने सेवाएं दे रहे हैं। उनका उत्साह सभी को बढ़ाना चाहिए। गरीब, असहाय निर्धन परिवारों की मदद के लिए सभी को मिलजुल कर प्रयास करने होंगे। उन्होंने कहा कि राज्य की त्रिवेंद्र सरकार व देश के प्रधानमंत्री द्वारा लाॅकडाउन जनता हित में ही किया गया है। अपने घरों से बाहर ना आएं। कोरोना वायरस संक्रमण की तरह फैल रहा है। इसकी रोकथाम का सही उपाय अपने घरों में ही रहना है। परशुराम अखाड़े के सदस्य मिलजुल कर यज्ञ कर रहे हैं। इस अवसर पर हरिओम, जलक कौशिक, राहुल वशिष्ठ आदि मौजूद रहे।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *