Thursday, April 27, 2017

Select your Top Menu from wp menus
देश
  • जाति और धर्म के नाम पर

    आयोग के निर्देशो के बावजूद मुश्किल है जाति एवं धर्म के नाम पर होने वाली राजनैतिक लामबन्दी पर किसी भी तरह ...

    आयोग के निर्देशो के बावजूद मुश्किल है जाति एवं धर्म के नाम पर होने वाली राजनैतिक लामबन्दी पर किसी भी तरह की रोक। राजनीति में धर्म व जाति के आॅकड़ो का उपयोग करते हुए इसे आधार बनाकर वोट माॅगना तथा चुनावी ...

    Read more
  • आगे-आगे देखिये होता है क्या

    बिना किसी ऐजेण्डे के चुनावी मोर्चे पर जाने की तैयारी कर रहे है राष्ट्रीय राजनैतिक दलों के पुरोधा अपने गठन ...

    बिना किसी ऐजेण्डे के चुनावी मोर्चे पर जाने की तैयारी कर रहे है राष्ट्रीय राजनैतिक दलों के पुरोधा अपने गठन के सोलह साल बाद चैथे विधानसभा चुनाव के लिए तैयार दिखता उत्तराखण्ड ग्यारह मार्च को क्या कुछ चैं ...

    Read more
  • ना काहू से दोंस्ती , नही किसी से बैर

    सर्वे के नाम पर चुनावों से ठीक पहले प्रस्तुत किये जा रहे आॅकड़ो से मतदाता को नही किया जा सकता गुमराह। पाॅच ...

    सर्वे के नाम पर चुनावों से ठीक पहले प्रस्तुत किये जा रहे आॅकड़ो से मतदाता को नही किया जा सकता गुमराह। पाॅच राज्यो में आदर्श चुनाव संहिता के लागू होते ही कयासो का दौर चल पड़ा हैं, और राजनीति के पंडित अपन ...

    Read more
  • एक बार फिर निशाने पर

    महिलाओं व युवतियों के साथ हुई अभ्रदता या छेड़खानी की स्थिति मे उनके पहनावे को ही बनाया जाता है निशाना। नये ...

    महिलाओं व युवतियों के साथ हुई अभ्रदता या छेड़खानी की स्थिति मे उनके पहनावे को ही बनाया जाता है निशाना। नये साल के आगाज को मद्देनजर रखते हुऐ आयोजित की गयी पार्टी का देर रात तक चलना कोई नई बात नहीं है और ...

    Read more
  • राजनीति की बिसात पर

    केन्द्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैैठे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत राजकाज से पहली फुर्सत पाते ही केन ...

    केन्द्र सरकार के खिलाफ धरने पर बैैठे उत्तराखंड के मुख्यमंत्री हरीश रावत राजकाज से पहली फुर्सत पाते ही केन्द्र सरकार के खिलाफ धरना देने दिल्ली जा पहुंचे हरीश रावत हर मौके का इस्तेमाल करना अच्छी तरह जान ...

    Read more
  • शराबबंदी से लेकर नोटबंदी तक

    राजनैतिक दलों व उनके आकाओं ने तय की अपनी प्राथमिकताऐं अगर राजनीति के नजरिये से देखे तो जाता हुआ वर्ष 2016 ...

    राजनैतिक दलों व उनके आकाओं ने तय की अपनी प्राथमिकताऐं अगर राजनीति के नजरिये से देखे तो जाता हुआ वर्ष 2016 राजनैतिक उलटफेर या आन्दोलनों की वजह से नहीं बल्कि सरकारों द्वारा लिये गये राजनैतिक फैसलों व उन ...

    Read more