भाजपा नेता ने पेड़ पर चढ़कर आत्मदाह के लिए अपने ऊपर डीजल छिड़क   | Jokhim Samachar Network

Sunday, January 23, 2022

Select your Top Menu from wp menus

भाजपा नेता ने पेड़ पर चढ़कर आत्मदाह के लिए अपने ऊपर डीजल छिड़क  

रुड़की।  चकबंदी विभाग में भ्रष्टाचार के मामलों में कार्रवाई नहीं होने का आरोप लगाते हुए भाजपा नेता आत्मदाह के लिए तहसील पहुंच गया। एक पेड़ पर चढ़कर अपने ऊपर डीजल छिड़क दिया। इससे प्रशासन में हलचल मच गई। करीब दो घंटे बाद प्रशासन भाजपा नेता को नीचे उतारने में कामयाब हो पाया। कनखल हरिद्वार निवासी जगजीवन राम भाजपा अनुसूचित मोर्चा में पदाधिकारी रह चुके हैं। चकबंदी विभाग के बंदोबस्त अधिकारी को उन्होंने तीन दिसंबर को ज्ञापन देकर बताया कि बेलड़ा आदि गांवों में चकबंदी प्रकिया में धांधली की गई है। जिसकी वह कई बार अधिकारियों से शिकायत कर चुके हैं। अब तक इन मामलों में कोई कार्रवाई नहीं हुई है। जगजीवन राम ने 15 दिसंबर को तहसील स्थित चकबन्दी विभाग के बाहर आत्मदाह करने की चेतावनी दी थी। खुफिया विभाग को भी मामले की जानकारी लगी। बुधवार सुबह करीब साढ़े नौ बजे जगजीवन राम एक बैग के साथ तहसील परिसर पहुंचे। उनके किसी पेड़ पर चढ़ने की जानकारी मिली थी। ज्वाइंट मजिस्ट्रेट कार्यालय के पास के पेड़ के पास पुलिस टीम खड़ी थी। इस बीच भाजपा नेता बंदोबस्त अधिकारी कार्यालय के पास खड़े भारी भरकम पेड़ पर चढ़ गए। उनके आत्महत्या के इरादे से पेड़ पर चढ़ने की सूचना से प्रशासन और पुलिस में हड़कंप मच गया। जेएम अंशुल सिंह, सीओ रुड़की विवेक कुमार, सीओ मंगलौर पंकज गैरोला, इंस्पेक्टर सिविल लाइंस देवेंद्र चौहान मौके पर पहुंचे। अधिकारी उसे समझाने का प्रयास करने लगे। भाजपा नेता ने बैग से बोतल निकालकर उसमें रखा कुछ डीजल अपने ऊपर छिड़क दिया। अधिकारी उससे लगातार वार्ता करते रहे। फायर बिग्रेड को भी मौके पर बुलाया गया। लगातार भाजपा नेता से अधिकारियों की वार्ता हुई। करीब दो घंटे बाद भाजपा नेता पेड़ से उतरने को राजी हुआ। जेएम अंशुल सिंह ने बताया कि शिकायत पर जांच एएसडीएम को सौंपी गई थी। उन्होंने दो-तीन बार शिकायतकर्ता से वार्ता की थी और वह संतुष्ट थे। सत्रह दिसंबर को पत्रावलियां मंगाई गई थी। उससे पहले शिकायतकर्ता पहुंच गए। उनका स्वास्थ्य परीक्षण कराया जा रहा है। इंस्पेक्टर सिविल लाइंस ने बताया कि शिकायतकर्ता के पास डीजल था।

About The Author

Related posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *